जासं, कानपुर : नौबस्ता के यशोदा नगर निवासी एक युवती के खाते से बिना ओटीपी आए ही 1.90 लाख की रकम एक फर्म के खाते में ट्रांसफर हो गई। पीड़िता ने आनलाइन बैंक स्टेटमेंट चेक किया तो मामले की जानकारी हुई। पीड़िता ने नौबस्ता थाने में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

यशोदा नगर निवासी रुचि सोनकर ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि पहले वह गौतमबुद्ध नगर में रहती थीं। वहीं की आइसीआइसीआइ बैंक शाखा में उनका खाता है। रुचि ने बताया कि चार अक्टूबर को वह आन लाइन बैंक स्टेटमेंट चेक कर रही थीं तो उन्हें खाते से 1.90 लाख की रकम कम होने की जानकारी हुई। रुचि का कहना है कि रकम ट्रांसफर करने के लिए ओटीपी की जरूरत होती है। उनके पास न तो कोई फोन काल आयी और न ही कोई ओटीपी आया। इसके बाद भी उनके खाते से रकम दूसरे खाते में ट्रांसफर हो गई। इस पर उन्होंने आइसीआइसीआइ बैंक गोविद नगर शाखा जाकर मामले की जानकारी दी और चेक कराया तो पता चला कि उनके खाते से रकम मीरा ट्रेडर्स के यश बैंक खाते में ट्रांसफर हुई है। उन्होंने अज्ञात के खिलाफ तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कराई है। नौबस्ता थाना प्रभारी सतीश कुमार सिंह का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

----------

सेवानिवृत्त एयरफोर्स कर्मी और मजदूर के खाते से निकली रकम

चकेरी शिवपुरी निवासी उदयभान एयरफोर्स में सार्जेंट पद से सेवानिवृत्त हैं। उनका केनरा बैंक चंद्र नगर में खाता है। आरोप है कि साइबर ठगों ने तीन जुलाई से आठ अगस्त के बीच उनके खाते से पेटीएम के माध्यम से आठ हजार रुपये निकाल लिये। जानकारी होने पर उन्होंने चकेरी थाने में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। वहीं अहिरवां के रेलवे लाइन के पास रहने वाले मजदूर अजय कुमार ने बताया कि उनका बैंक आफ बड़ौदा पटेल नगर शाखा में खाता है। 26 जुलाई को उनके खाते से 10 हजार रुपये का आन लाइन ट्रांजक्शन किया गया था। मैसेज आने पर चकेरी थाने में शिकायत की थी, लेकिन रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई थी। 18 सितंबर को फिर से खाते से सात हजार की रकम निकल गई। जिस पर उन्होंने डीसीपी पूर्वी से शिकायत की तो चकेरी पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है।

Edited By: Jagran