महोबा, जागरण संवाददाता। मानसून से पहले की बारिश अगर गर्मी से राहत लेकर आई तो वहीं खाद्य आपूर्ति विभाग के लिए मुसीबत बन गई। सोमवार की दोपहर बारिश में रेलवे स्टेशन पर खुले में रखा राशन कार्ड धारकों को वितरित होने वाला चावल भीगने से विभाग में खलबली मची है। इसमें ठेकेदार की बड़ी लापरवाही बताई जा रही है और मामले की जांच शुरू कराई गई है। वहीं चावल की बोरियों को स्टेशन से उठवाकर गोदाम में रखवाया गया है।

राशन के लिए पात्रों को हर माह गेहूं के साथ चावल का वितरण किया जाता है। पंजाब से चार दिन पहले करीब 70 हजार बोरियां चावल राशन में वितरण के लिए महोबा आया था। इसे स्टेशन पर खुले में रख दिया था। ज्यादातर चावल गोदाम में रख दिया था लेकिन कुछ बोरियां बाहर खुले में रखा रह गया था। सोमवार की दोपहर हुई बारिश के कारण चावल से भरी 15 से 17 हजार बोरियां भीग गई थीं।

मंगलवार को जिम्मेदार हरकत में आए और श्रमिकों, पल्लेदारों को लगाकर ट्रकों के जरिए चावल एफसीआई गोदाम पहुंचाया। एफसीआई के क्षेत्रीय मैनेजर मनोज कुमार कहते है ठेकेदार की लापरवाही सामने आई है। मंगलवार को कितना चावल गोदाम भेजा गया, कितना नष्ट हुआ। इसकी जांच कराई जा रही है। उच्चाधिकारियों को सूचित किया गया है।

Edited By: Abhishek Agnihotri