जागरण संवाददाता, कन्नौज: विकास भवन का सीडीओ ने निरीक्षण किया तो अधिकारी समेत कर्मचारी नदारद मिले। सभी से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

शनिवार को सीडीओ आरएन सिंह से डीडीओएनबी सविता के साथ जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया। यहां सहायक संख्याधिकारी नीती कुमार व अरविद कुमार 26 नवंबर से एनएसएस सर्वे पर बताए गए, लेकिन भ्रमण कार्यालय पर अंकित नहीं मिला। साफ सफाई नहीं पाई गई। इस पर दोनों को भ्रमण से पहले कार्यालय में उपस्थिति दर्ज करने की चेतावनी दी। जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय का निरीक्षण किया। वाहन चालक कमलेश कुमार 20 नवंबर से अनुपस्थित मिले। डीपीओ नीलम कटियार से अनुपस्थित रहने पर उनके द्वारा की कार्रवाई पूछी, संतोषजनक जवाब न मिलने पर वाहन चालक का वेतन रोक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। कम्प्यूटर का रखरखाव सही न मिलने पर नाराजगी जताई। कृषि रक्षा इकाई में अवधेश कुमार लेखाकार, राकेश कुमार शुक्ला पीए, ज्ञानेंद्र सिंह एडीओ, आकाश वर्मा अनुपस्थित पाए गए। अवधेश व ज्ञानेंद्र का अवकाश प्रार्थनापत्र रखा मिला, लेकिन स्वीकृति नहीं थे। वरिष्ठ सहायक अरविद कुमार व आकाश वर्मा पीपीएस के भ्रमण करने के हस्ताक्षर नहीं मिले। इन सभी से स्पष्टीकरण मांगा गया है। कृषि कार्यालय में नियामत अली चतुर्थ बिना अवकाश स्वीकृत के गैरहाजिर मिले। लघु कार्यालय में सहायक अभियंता भी अनुपस्थित मिलीं। स्पष्टीकरण मांगा गया। अवर अभियंता नितिन कुमार का रजिस्टर में नाम था, लेकिन हस्ताक्षर नहीं किए जा रहे थे। इन्हें कार्रवाई की चेतावनी देकर स्पष्टीकरण मांगा गया। तीन दिन में जवाब न मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

------------------------

महिला अपराध की गंभीरता से करें जांच:

संवाद सूत्र, इंदरगढ़ : लंबित विवेचनाओं को समय से निपटाएं। वांछित व वारंटी को अभियान चलाकर पकड़ें। स्नातक व शिक्षक चुनाव में शांति व्यवस्था को लेकर अराजक तत्वों पर निगरानी करें। अवैध शराब के कारोबार को बंद कराएं। यह निर्देश निरीक्षण कर एएसपी ने दिए हैं।

शनिवार को एएसपी विनोद कुमार ने थाना का निरीक्षण किया और निर्देश देते हुए कहा कि महिला हेल्प डेस्क में पीड़ितों को त्वरित न्याय देने का लक्ष्य बनाएं। महिला अपराध को गंभीरता से लें और जांच कर तुरंत कार्रवाई करें। इसमें दर्ज शिकायत व निस्तारण को भी देखा। उन्होंने कहा कि स्कूलों में जाकर मिशन शक्ति के तहत छात्राओं को जागरूक करें। छात्राओं को शोहदों से बचाव के बारे में जानकारियां दें। क्षेत्रों में अवैध शराब के कारोबार न होने दें। अभियान चलाएं और आरोपितों को पकड़कर जेल भेजें। शराब से मौत होने पर जिम्मेदार थानाध्यक्ष होंगे। इस मौके पर थानाध्यक्ष विमलेश कुमार, उपनिरीक्षक अवधेश राठौर व आलोक कुमार समेत कई पुलिस कर्मी मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप