-राष्ट्रीय हैकरशाला के निदेशक डा. रक्षित टंडन ने दिया आनलाइन प्रशिक्षण

-पुलिस मुख्यालय (तकनीकी सेवाएं) द्वारा वेबिनार के माध्यम से दी जानकारी

जागरण संवाददाता, कन्नौज : साइबर क्राइम की बढ़ती घटनाओं की रोकथाम के लिए पुलिस को प्रशिक्षित किया जा रहा है। पुलिस मुख्यालय (तकनीकी सेवाएं) द्वारा जनपद के सभी थानों में वेबिनार का आयोजन किया गया, जिसमें विशेषज्ञों ने आनलाइन जानकारी उपलब्ध कराई। इस बारे में पुलिस कर्मियों से भी अलग-अलग तरह की घटनाओं के बारे में जानकारी ली गई।

बुधवार को वेबिनार में राष्ट्रीय हैकरशाला के निदेशक डा. रक्षित टंडन ने पुलिस कर्मियों को बताया कि जब से सूचना एवं संचार सेवाओं में बढ़ोतरी हुई है, तब से साइबर अपराध की घटनाओं में भी इजाफा हुआ है। इनकी रोकथाम के लिए तथा अपराधियों पर कार्रवाई के लिए टेक्नोलाजी का ज्ञान होना आवश्यक है। पुलिस को चाहिए कि वह सबसे पहले आम लोगों को साइबर अपराध के बारे में जागरूक करें, तभी इस पर नियंत्रण संभव है। बैंक अधिकारियों से तालमेल रखें। यदि किसी के खाते से रुपये निकल जाते हैं तो तत्काल खाता फ्रीज करवा दें, इससे वह और रुपये नहीं निकाल पाएगा। इंटरनेट मीडिया पर आने वाले लुभावने विज्ञापनों को नजरअंदाज करें। पुलिस अधीक्षक प्रशांत वर्मा ने बताया कि जनपद के सभी थानों में प्रशिक्षण दिया जा रहा है। साइबर अपराधों की रोकथाम को पुलिस पूरी तरह तैयार है, जिसमें आमजन को भी सहभागिता करनी पड़ेगी।

Edited By: Jagran