जागरण संवाददाता, कन्नौज : गंगा का जलस्तर बढ़ने से कटरी कासिमपुर गांव में बाढ़ आ गई है। रविवार सुबह जलस्तर चेतावनी बिदु से और ऊपर निकल गया है। इससे हालात और खराब हो गए हैं। नदी के दोनों तरफ कटरी क्षेत्र पूरी तरह से जलमग्न होने से फसलें बर्बाद हो गई हैं।

बुलंदशहर के नरौरा बांध से फिर एक लाख क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इससे गंगा का जलस्तर चेतावनी बिदु से और ऊपर पहुंच गया है। रविवार सुबह जलस्तर 125.460 मीटर दर्ज किया गया है, जबकि शनिवार शाम तक जलस्तर 124.990 मीटर दर्ज किया गया था। चेतावनी बिदु 124.970 मीटर है। दोपहर तक चेतावनी बिदु से जलस्तर 49 सेमी ऊपर रहा। वहीं, खतरे का निशान 125.980 मीटर है, जो 52 सेमी दूर रहा। इससे प्रशासन के साथ ग्रामीणों की मुश्किले और बढ़ गई हैं। कासिमपुर गांव गंगा से सटा होने के कारण चारों तरफ से बाढ़ की चपेट में आ गया है। गांव के आवगमन को बनी पुलिया डूब गई है। गांव के बाहर पानी भर गया है, जबकि गांव के अंदर भी पहुंच गया है। इससे आवागमन ठप होने के साथ जनजीवन अस्त-व्यत हो गया है। ग्रामीणों के लिए खतरा है। रविवार को गांव छोड़ने के लिए मुनादी कराई गई है। इसके बाद भी ग्रामीणों ने गांव नहीं छोड़ा है। वहीं, बक्सीपुरवा को भी खतरा है। पूरा फसली क्षेत्र जलमग्न, फसलें बर्बाद

गंगा में बाढ़ से नदी के दोनों तरफ का पूरा तटीय क्षेत्र जलमग्न हो गया है। इससे आलू, धान व सब्जियों की पूरी तरह से फसल नष्ट हो गई है। कटरी फिरोजपुर व कटरी डूंगर समेत अन्य गांव में भी जलस्तर बढ़ने पर बाढ़ की आशंका है। वहीं, सहायक नदी काली का भी जलस्तर बढ़ा है। इससे आसपास गांव को अलर्ट किया गया है। एसडीएम सदर गौरव शुक्ला व तहसीलदार रामशंकर ने कासिमपुर समेत कई गांव का निरीक्षण कर हालात देखे। लेखपालों को बराबर तैनात रहने के निर्देश दिए हैं। जलस्तर रविवार शाम तक घट जाएगा। सभी गांव में अलर्ट किया गया है। कासिमपुर गांव में राजस्व टीम ग्रामीणों की मदद में लगी है। अन्य जगह भी राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैयारी पूरी है। अन्य गांव अभी सुरक्षित हैं।

-गौरव शुक्ला, एसडीएम सदर जलस्तर पर नजर

चेतावनी बिदु : 124.970 मीटर

खतरा : 125.980 मीटर

रविवार को जलस्तर : 125.460 मीटर

शनिवार को जलस्तर : 124.990 मीटर

Edited By: Jagran