जागरण संवाददाता, जौनपुर : स्वयं सहायता समूह की महिलाएं ग्राम पंचायतों में मनरेगा से हो रहे कार्यों का नागरिक सूचना पट्ट (सिटीजन इंफारमेशन बोर्ड) तैयार कर स्वावलंबी बन रही हैं। ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिहाज से दो माह पूर्व इन्हें यह जिम्मा दिया गया था। महिलाओं ने अभी तक 350 नागरिक सूचना पट्ट तैयार किया है। निर्माण में लगने वाले खर्च की धनराशि सीधे समूहों के नाम खुले खाते में ट्रांसफर जा रही है। इसके लिए प्रत्येक ब्लाक में तीन-तीन समूह को बकायदा प्रशिक्षित भी किया गया है। इस मुहिम से महिलाओं की आर्थिक स्थिति में भी सुधार हो रहा है।

शासन की मंशा है कि गांवों में समूहों को मजबूत कर महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाया जाय। इसे लेकर सबसे अधिक जोर ब्लाकों में समूह गठन को दिया जा रहा है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) की ओर की ओर से महिलाओं को हुनरमंद बनाने के लिए संजीदगी से कार्य किया जा रहा है। उपायुक्त मनरेगा भूपेंद्र सिंह ने बताया कि सिटीजन इंफारमेशन बोर्ड के लिए स्वयं समूहों को साइज के हिसाब से तीन से पांच हजार रुपये का भुगतान किया जाएगा। उन्होंने बताया कि महिलाओं को इसके लिए ग्राम्य विकास संस्थान द्वारा प्रशिक्षण भी दिया गया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप