जागरण संवाददाता, सरपतहां (जौनपुर): शाहगंज से सुइथाकलां उपकेंद्र पर आने वाली मुख्य लाइन में खराबी से क्षेत्र के कई गांवों की विद्युत आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई है। उमसभरी गर्मी में जहां लोग बेहाल हैं, वहीं धान की रोपाई भी प्रभावित हो गई है।

शाहगंज से 33 केवी उपकेंद्र सुईथाकलां को आने वाली मुख्य लाइन ताखा, हुसेनाबाद, बरौत, बसिरहां, अतरौड़ा, उनुरखां, पूरा रामसिंह, रुधौली समेत दर्जनों गांवों से होते हुए सुईथाकलां उपकेंद्र तक पहुंचती है। काफी पुराने तार होने की वजह से जर्जर हालत में हैं। तारों के गिरने की घटनाएं आएदिन होने से आपूर्ति व्यवस्था पूरी तरह ठप हो जाती है। कई-कई घंटे ठप आपूर्ति से आजिज उपभोक्ता जब विभाग में शिकायत करते हैं तो उन्हें दो टूक बताया जाता है कि मुख्य लाइन का तार गिर गया है। लाइन की एक अर्से पहले मरम्मत की गई थी कितु इस समय हालत फिर जस की तस हो गई है। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि जब तक नए सिरे से उक्त लाइन के लिए बजट जारी नहीं हो जाता समस्या से निजात मिल पाना कठिन है।

दस एमबीए का ट्रांसफार्मर फुंका, बढ़ी परेशानी

बदलापुर (जौनपुर) : कस्बे के उसरा बाजार स्थित विद्युत उपकेंद्र पर लगा दस एमबीए का ट्रांसफार्मर दो दिन से जलने के कारण चार फीडर के उपभोक्ता भीषण गर्मी से बेहाल हैं। विभाग वैकल्पिक व्यवस्था के तहत बारी-बारी से किसी तरह आपूर्ति देकर काम चला रहा है। उपकेंद्र पर लगा दस एमबीए का ट्रांसफार्मर बुधवार की रात धू-धू कर जल गया। इससे घनश्यामपुर, सिगरामऊ, नौपेड़वा व बदलापुर खुर्द फीडर के उपभोक्ता बिजली से वंचित हो गए। पूरी रात अधिकारी-कर्मचारी ट्रांसफार्मर ठीक करने का प्रयास करते रहे, लेकिन सफलता नहीं मिल सकी। इसके बाद नया ट्रांसफार्मर मंगवाने की कवायद शुरू हो गई। इस बीच उपभोक्ताओं को दूसरे दस एमबीए के ट्रांसफार्मर से जोड़कर बारी-बारी से आपूर्ति दी जा रही है। बिजली के अभाव में धान की रोपाई को लेकर किसान जहां चितित हो गए हैं वहीं पड़ रही भीषण गर्मी से लोगों को दो-चार होना पड़ रहा है। सहायक अभियंता रंजीत कुमार ने बताया कि शुक्रवार की सुबह तक ट्रांसफार्मर आने की संभावना है। तब तक के लिए दूसरे ट्रांसफार्मर से आपूर्ति दी जा रही है।

Edited By: Jagran