जागरण संवाददाता, जौनपुर: जिले में सबसे ऊंची इमारत बनाने का प्रस्ताव कोरोना की भेंट चढ़ गया है। पुलिस लाइन में अधिकारियों सहित जवानों के लिए 13 मंजिला बिल्डिग बनाने की तैयारी की गई थी। शासन के निर्देश पर दो साल पूर्व बकायदा इसकी डिजाइन भी तैयार करा ली गई, लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से दो साल से सारी कवायद पर ब्रेक लग गया है। अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त बनने वाली इस इमारत से पुलिस कर्मियों के आवास की किल्लत काफी हद तक दूर हो जाएगी।

पुलिस लाइन में बनने वाले इस भवन में लिफ्ट व जिम के साथ ही सुरक्षा के मुकम्मल प्रबंध किए जाएंगे। आकर्षक डिजाइन वाले इस मल्टी स्टोरी बिल्डिग में रहने वालों के लिए पार्किंग की भी व्यवस्था की जानी है। लगभग सौ फीट लंबे व डेढ़ सौ फीट चौड़े एरिया में बनने वाला यह भवन जिले की सबसे ऊंची भवनों में शुमार होगा। आठ थानों में भी बनेगी तीन से सात मंजिली इमारत

नई योजना के मुताबिक पुलिस लाइन के अलावा सरपतहां, सिगरामऊ, खेतासराय, सुजानगंज, मड़ियाहूं, मीरगंज, केराकत, सरायख्वाजा व जफराबाद थाने में भी तीन से सात मंजिला भवन बनाया जाएगा। इसमें तीन मंजिला में 16 फ्लैट, पांच में 32 व सात मंजिला में पुलिस कर्मियों के रहने के लिए आधुनिक सुविधाओं से युक्त 40 फ्लैट होंगे। कुछ स्थानों पर कार्य शुरू भी करा दिया गया है। पुलिस लाइन में महज 268 आवास

तकरीबन चार हजार पुलिस कर्मियों के लिए पुलिस लाइन में 268 आवासों के साथ 17 बैरक बने हैं। इसके अलावा 28 थानों में आवास व बैरक की व्यवस्था की गई है, जो जरूरतों को पूरा नहीं करती। तमाम थाने ऐसे भी हैं, जहां पुलिस कर्मी जर्जर आवासों में बुनियादी सुविधाओं के अभाव में रह रहे हैं।

-----------------------

मल्टी स्टोरेज बिल्डिग का प्रस्ताव शासन के निर्देश पर तैयार हुआ है। निर्माण को लेकर औपचारिकताओं को पूरा किया जा रहा है। कुछ स्थानों पर कार्य की शुरुआत भी की गई है। पुलिस लाइन में निर्माण की स्वीकृति मिलते ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

-राधाकृष्ण, अधिशासी अभियंता, पीडब्ल्यूडी।

Edited By: Jagran