जागरण संवाददाता, जौनपुर: जौनपुर जंक्शन पर नए प्लेटफार्म बनाने की योजना को मंजूरी मिल गई है। छ: सौ मीटर लंबा बनाए जाने वाले इस प्लेटफार्म पर साढ़े तीन करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके अलावा प्लेटफार्म संख्या पांच का विस्तार किए जाने की तैयारी काफी पहले हो चुकी है। उत्तर रेलवे की ओर से आने वाली ट्रेनों के लिए महज एक प्लेटफार्म होने की वजह से ट्रेनों को औड़िहार समेत अन्य स्टेशनों पर रोकना पड़ता है, जिससे ट्रेनें अक्सर लेट होती हैं। यात्री सुविधा के लिहाज से काफी पहले यह प्रस्ताव तैयार किया था, जिसकी स्वीकृति मिल गई।

एनआर की ओर से सोहेलदेव एक्सप्रेस, गाजीपुर बांद्रा एक्सप्रेस, छपरा से दिल्ली लोकनायक एक्सप्रेस, गाजीपुर से वैष्णोदेवी कटरा एक्सप्रेस व गोंदिया समेत प्रमुख ट्रेनें शामिल हैं। इन ट्रेनों को प्लेटफार्म संख्या पांच पर रोका जाता है। सिग्नल क्लियर नहीं होने पर ट्रेनों को औड़ियार, मुफ्तीगंज व जफराबाद जैसे स्टेशनों पर रोकना पड़ता है। इस वजह से कई बार ट्रेनें एक से दो घंटे तक स्टेशन पर खड़ी करती हैं, जिसका असर समय पर चल रही अन्य ट्रेनों पर भी पड़ता है। जंक्शन पर नए प्लेटफार्म का मसौदा काफी पहले तैयार किया था। इसमे प्लेटफार्म संख्या पांच को बढ़ाए जाने की स्वीकृति पहले ही मिल चुकी है। अब नए प्लेटफार्म बनाने की योजना की भी स्वीकृति मिल गई। बताया जा रहा है कि रेलवे की इंजीनियरिग टीम ने निर्माण स्थल का भी निरीक्षण कर लिया है। उत्तर रेलवे के डीआरएम संजय त्रिपाठी का कहना है कि जौनपुर जंक्शन को अपग्रेड करने की योजना पर कार्य चल रहा है, जो कई चरणों में पूरा किया जाएगा।

Edited By: Jagran