जागरण संवाददाता, मछलीशहर (जौनपुर): कोतवाली क्षेत्र के रामपुर कला (मानाखाई) गांव में शनिवार को बच्चों के तीतर भूनने के चक्कर में पके गेंहू की फसल में आग लग गई। आगजनी में लगभग 8 बीघे गेंहू की फसल जलकर राख हो गई। इसमें तीन किसानों की लगभग डेढ़ लाख की क्षति हो गई। ग्रामीणों के कई घंटों के अथक प्रयास के बाद आग पर काबू पाया गया।

दोपहर को सरोजबस्ती के 13-14 वर्ष के दो बच्चे तीतर मारकर गेहूं के खेत के बगल भून रहे थे। आग की लौ अचानक गेहूं की फसल में हवा के कारण फैल गई। जब आग ने विकराल रुप धारण कर लिया तो बच्चे घबराकर भाग गए। खेत में धुंआ उठता देख बस्ती के कई दर्जन लोग खेत के पास पहुंचे तब तक मानाखाई निवासी तीन किसानों मायाराम पटेल, बृजराज, कमलेश पटेल के लगभग 8 बीघे फसल में आग लग चुकी थी। ग्रामीणों ने फायर ब्रिगेड को फोन किया। फोन न लगने पर 100 नंबर डायल किया। ग्रामीण प्रेम सागर, अमन, वंशराज, बृज किशन, मनोज सहित सैकड़ों ग्रामीणों के सहयोग से कई घंटे अथक प्रयास के बाद आग पर काबू पाया गया। आगजनी की सूचना पाकर राजस्व कर्मी भी मौके पर क्षति का आकलन करने पहुंच गए। आगजनी से तीन किसानों की सालों की कमाई पलक झपकते ही नष्ट हो गई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप