जागरण संवाददाता, मुंगराबादशाहपुर (जौनपुर): सतहरिया औद्योगिक क्षेत्र में बंद चल रहे पावर प्लांट में बुधवार की दोपहर करीब 50 लोग भीतर घुस गए। वहां तोड़फोड़ करते हुए जम कर उत्पात मचाया। विरोध करने पर कंपनी के कर्मचारी को भी पीटा। सूचना पर पहुंची पुलिस अराजक तत्वों को चिन्हित कर उनकी तलाश में जुट गई है।

पावर प्लांट लगभग चार महीने से बंद चल रहा है। जिसके कारण फैक्ट्री में कर्मचारियों की संख्या बहुत कम है। दोपहर में फैक्ट्री के पीछे की तरफ से करीब 50 अराजक तत्व खिड़कियां एवं दरवाजे तोड़ कर भीतर घुस गए। विरोध करने पर फैक्ट्री के मैकेनिक राम मिलन को पीट कर घायल कर दिया। डर से अन्य कर्मचारी जान बचाकर अतिथि भवन के दूसरे तल पर के कमरे में खुद को बंद कर लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस को देखकर अराजक तत्व बगल के गांव में भाग निकले। पुलिस ने घायल कर्मचारी को अस्पताल पहुंचाया। फैक्ट्री के बगल स्थित गेंहू की फसल भी करीब चार बिस्वा जल गई है। फैक्ट्री मालिक ने अराजक तत्वों पर भी इसका आरोप लगाया है। तोड़-फोड़ आगजनी क्यों हुई इसकी पुलिस पड़ताल कर रही है। मैनेजर दिलीप खुटिया ने बताया कि लगभग दो लाख का नुकसान हुआ है।

Posted By: Jagran