जागरण संवाददाता, जौनपुर: शहर में ओलंदगंज-जेसीज चौराहा मार्ग स्थित एक होटल में शनिवार को उस समय अफरा-तफरी मच गई जब कथित तौर पर सरकारी नौकरी दिलाने के लिए रुपये ऐंठने वाले जालसाज से भुक्तभोगियों को नकली नोट देने पर हाथापाई होने लगी। मौके पर पहुंचे कोबरा पुलिस के जवानों को उसके पास से दो हजार के 172 जाली नोट मिले। पुलिस जवान दोनों पक्षों को कोतवाली ले गए। पुलिस का कहना है कि नोट जाली नहीं बल्कि बच्चों के खेलने वाले हैं। तहरीर नहीं मिली है। मामले की छानबीन की जा रही है।

आरोप है कि सिकरारा थाना क्षेत्र निवासी एक जालसाज ने कई युवकों से सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रुपये हड़प लिया था। नौकरी न मिलने पर भुक्तभोगी रुपये लौटाने के लिए बराबर दबाव बना रहे थे। कुछ युवकों को उसने रुपये लौटाने के लिए उक्त होटल में बुलाया था। आरोप है कि वह भुक्तभोगियों को दो-दो हजार की नकली नोट देने लगा। भुक्तभोगियों ने पकड़ लिया और एतराज करने लगे जिस पर हाथापाई होने लगी। होटल में अफरा-तफरी मच गई। खबर मिलने पर कोबरा नंबर एक के सिपाहीद्वय दीपक व महेश पहुंच गए। तलाशी में जालसाज के पास से दो-दो हजार की 172 जाली नोट मिले। पुलिस दोनों पक्षों को कोतवाली ले गई। कोतवाल पवन कुमार उपाध्याय ने कहा कि कथित आरोपित के पास से बरामद नोट जाली नहीं बल्कि बच्चों के खेलने वाला है। उस पर मनोरंजन बैंक छपा है। भुक्तभोगियों की तरफ से अभी तहरीर नहीं दी गई है। मिलने पर आरोपित के विरुद्ध विधिक कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप