जासं, केराकत (जौनपुर): मवेशी चोरों का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार की रात चोरों ने चार गांवों में जमकर तांडव मचाया। पांच साल के बच्चे की कनपटी पर तमंचा सटाकर तो तीन लोगों को जख्मी कर एक लाख रुपये से अधिक मूल्य के बकरे व बकरी उठा ले गये। इस दौरान दस हजार रुपये, मोबाइल फोन व अन्य सामान भी लूट लिया।

कुसैला गांव में धमके बोलेरो सवार मवेशी चोरों ने विजय प्रताप सिंह के घर के कमरे का ताला तोड़ दिया। आहट लगने पर जाग गई उनकी पत्नी चंपा देवी ने टोका तो मवेशी चोर उनका गला घोंटने लगे। किसी तरह से मुक्त हुई चंपा देवी ने पति को जगाया। शोर मचाने पर उन पर तमंचे की मुठिया से हमला कर दिया। बगल में सोया उनका पांच वर्षीय नाती सौरभ जाग गया तो मवेशी चोरों ने उसकी कनपटी पर तमंचा सटा दिया और गोली मार देने की धमकी देते हुए सात बकरे व बकरियां लादकर सर्की की तरफ भाग निकले।

विजय प्रताप सिंह ने बताया कि फोन करने के बाद डेढ़ घंटे बाद पहुंचे यूपी-112 के सिपाही पूछताछ कर चले गये। इसके बाद मवेशी चोर तेजपुर गांव के सलीम अहमद के घर पहुंचे और उनका बकरा लाद लिया। भागते समय रास्ते में राजेंद्र कुमार को लोहे की राड से प्रहार कर घायल कर दिया। सदहां गांव में सनोहर राम को तमंचे की मुठिया तो पंचम राम को राड से हमलाकर घायल कर दिया। अकबरपुर में आशीष सरोज व करिया विश्वकर्मा के घर से तमंचे के बल पर दस हजार रुपये, दो मोबाइल व टार्च लूट लिये। दो भैंस लाद ले गए मवेशी चोर

बरईपार: सिकरारा थाना क्षेत्र के गोनापार गांव से मवेशी चोर पशुशाला का ताला तोड़कर दो भैंस उठा ले गये। पेशे से किसान नवाब शेख व कुरबान शेख का गोनापार बाजार में लबे सड़क मकान है। मंगलवार को तड़के करीब तीन बजे भैंस के बच्चे की आवाज सुनकर नवाब शेख व कुरबान शेख जागे तो देखा कि पशुशाला के ताले टूटे और दो भैंस नदारद थी। उनकी सूचना पर यूपी-112 की पुलिस पहुंची और दौड़-धूप की लेकिन मवेशी चोरों का कोई सुराग नहीं मिला।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस