जागरण संवाददाता, जौनपुर: लोकसभा चुनाव में मतदान होने के बाद 23 मई को नवीन मंडी समिति में मतगणना होगी। हर विधानसभा क्षेत्र में मतदेय स्थलों के हिसाब से मतगणना की राउंड भी तय हो चुकी है। अगर प्रत्याशी व एजेंट को जिस बूथ व राउंड में गड़बड़ी होने का शक हो, वह हर विधानसभा स्तर पर अधिकतम पांच ईवीएम व वीवीपैट का मिलान कर सकते हैं। इसके लिए आरओ व प्रेक्षक के समक्ष दावा करना होगा। रैंडम ईवीएम व वीवीपैट का मिलान करके भ्रम को दूर किया जा सकता है।

जिले में कुल 3455 बूथों पर 3451 ईवीएम की मतगणना की जाएगी। इसके लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में मतदेय स्थलों के हिसाब मतगणना की राउंड निर्धारित हो चुकी है। सुबह आठ बजे से नवीन मंडी समिति चौकियां में मतगणना शुरू होगी। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में अगर प्रत्याशियों व एजेंट को किसी बूथ पर गड़बड़ी होने की शिकायत मिली हो तो वहां पर ईवीएम से वीवीपैट के पर्ची का मिलान कराया जाएगा। जिसमें यह पता चलेगा कि कुल कितना वोट पड़ा, किस प्रत्याशी को कितने वोट मिले। रैंडमली पांच वीवीपैट की जांच कराई जाएगी। जिससे प्रत्याशी व एजेंट को पूर्ण संतुष्टि मिल सके। जौनपुर लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा बदलापुर में 26, शाहगंज में 27, जौनपुर में 30, मल्हनी में 27, मुंगराबादशाहपुर में 28 राउंड मतगणना होगी। मछलीशहर लोकसभा क्षेत्र के विधानसभा मछलीशहर में 29, मड़ियाहूं में 25, जफराबाद में 28, केराकत में 32 राउंड मतगणना होगी।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी आरपी मिश्र ने बताया कि एजेंट को लगता है जिन बूथ पर गड़बड़ी की संभावना है, उस भ्रम को दूर करने के लिए एक विधानसभा क्षेत्र में अधिकतम पांच बार ईवीएम व वीवीपैट का मिलान किया जा सकता है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran