जागरण संवाददाता, जौनपुर: स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले में 12 हजार नए शौचालय बनाए जाएंगे। इसके लिए पात्रों की तलाश शुरू कर दी गई है। ग्राम सचिवों को निर्देशित किया गया है कि सत्यापन करने के बाद ही फीडिग कराएं। इसके पहले बड़ी संख्या में शौचालयों का निर्माण कराया गया है, लेकिन अभी भी कुछ पात्रों को शौचालय की सुविधा नहीं मिल सकी है। पारदर्शिता के लिहाज से निर्माण के लिए धनराशि सीधे पात्रों के खातों में भेजी जाएगी। इस माह के अंत तक निर्माण को लेकर जरूरी औपचारिकताओं को पूर्ण कर लिया जाएगा।

सभी 21 ब्लाकों में कराया जाएगा निर्माण

शौचालय का निर्माण सभी 21 ब्लाकों में कराया जाएगा। पांच से सात सौ शौचालय प्रत्येक ब्लाकों में पात्रों को दिया जाएगा। सचिव समेत प्रधानों को निर्देशित किया गया है वे पात्रों को सूचीबद्ध कर ब्लाक पर जानकारी दें। मुख्यालय स्तर पर पात्रों का सत्यापन करने के बाद निर्माण शुरू कराया जाएगा। शौचालय की धनराशि सीधे लाभार्थियों के खाते में जाएगी। पहले यह धनराशि ग्राम निधि में जाती थी, जहां से लाभार्थियों को मुहैया कराई जाती थी। इस प्रक्रिया में आएदिन विवाद की नौबत बनती थी। नई व्यवस्था से अब उक्त धनराशि सीधे लाभार्थियों को मिलने से बिचौलियों की भूमिका काफी हद तक रुक सकेगी। निर्माण कराने के लिए मिलेंगे 12 हजार रुपये

स्वच्छ भारत मिशन के तहत होने वाले शौचालयों के निर्माण में पात्रों को 12 हजार रुपये की एकमुश्त धनराशि उनके खातों में भेजी जाएगी। इसके पूर्व छह हजार रुपये निर्माण से पहले व शेष छह हजार निर्माण के बाद भेजी जाती थी। गरीबों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए व निर्माण समय से कराने को लेकर अब पूरे रुपये एक ही बार में भेजे जाएंगे। वर्जन..

स्वच्छ भारत मिशन के तहत 12 हजार शौचालयों का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। पात्रों की सूची तैयार कराई जा रही है। जरूरी औपचारिकताओं को पूर्ण करने के बाद निर्माण शुरू कराया जाएगा।

-संतोष कुमार, जिला पंचायत राज अधिकारी।

Edited By: Jagran