संवाद सूत्र, डकोर : चिल्ली गांव के पास स्कूल जाने के लिए वाहन का इंतजार कर रही छात्रा को तेज रफ्तार टेंपो चालक ने टक्कर मार दी। सिर के बल सड़क पर गिरने से छात्रा को गंभीर चोट लगी। मौके पर ही उसकी मृत्यु हो गई। घटना के बाद वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने टेंपो को कब्जे में लेकर चालक को हिरासत में लिया।

चिल्ली गांव निवासी चंद्रशेखर वर्मा की 15 वर्षीय पुत्री आकांक्षा गुरुवार सुबह परीक्षा देने के लिए स्कूल जा रही थी। वह उरई के आर्यकन्या इंटर कालेज में कक्षा 10 में पढ़ती थी। गांव के पास ही साईं बाबा मंदिर के समीप पर उरई जाने के लिए सड़क पर वाहन का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान चिल्ली गांव से सवारियां बैठाकर आ रहे टेंपो चालक ने आकांक्षा को टक्कर मार दी। लड़खड़ाकर वह सिर के बल सड़क पर गिरी। टेंपो का पहिया उसके ऊपर से गुजर गया। जिससे मौके पर ही उसकी मृत्यु हो गई। घटना के बाद वहां पर लोगों की भीड़ जमा हो गई।

मजदूर की चार बेटियों में थी होनहार

प्रधान उपेन्द्र परिहार का कहना है कि चन्द्रशेखर मजदूरी कर अपनी चार बेटियों को पढ़ा रहा है। आकांक्षा पढ़ाई में बेहद होनहार थी। उसकी मौत के बाद परिवार वालों का हाल बेहाल है। घटना के लोगों में आक्रोश पनप गया। बवाल बढ़ता इसी बीच पुलिस मौके पर पहुंच गई और आरोपित को हिरासत में ले लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस