संवाद सूत्र, एट : कस्बे में दस वर्षो से बंद पड़ी पानी की टंकी का बुधवार को जल निगम के अभियंताओं ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने जल्द लाइनें दुरुस्त कराने की बात कही। दैनिक जागरण में मंगलवार के अंक में प्रमुखता से खबर छपने के बाद जिम्मेदारों की नींद टूटी। अब लोगों को उम्मीद है कि जल्द ही उनके घरों में पानी की आपूर्ति बेहतर तरीके से हो सकेगी।

कस्बे में दस वर्ष पहले एक करोड़ की लागत से पानी की टंकी बनाई गई थी। बनने के कुछ समय बाद ही चारों तरफ से लीकेज हो गए थे। ट्रायल के दौरान ही घटिया पाइप दगा दे गए थे और जगह-जगह से फट गए थे। जिसके कारण नगरवासी पानी के लिए परेशान रहते थे। दैनिक जागरण में समाचार प्रकाशित होने के बाद विभाग के अधिकारियों की नींद टूटी और बुधवार को अधिशासी अभियंता सुनील तिवारी, सहायक अभियंता हरिलाल व जेई हिमांशु शेखर जल निगम ने पानी की टंकी का मौका मुआयना किया। इसके बाद कर्मचारियों ने लाइन को खोलकर चेक करवाया तो लाइन सही पाई गई। इसके बाद टीम ने प्रधान संजीदा बेगम, सचिव हरीश राठौर से जल्द ही नगर की लीकेज लाइनों को दुरुस्त कराने व अन्य लाइनों को कर्मचारियों से चेक कराने की बात कही। जिससे लोगों को गर्मी के मौसम में पानी की सप्लाई निर्बाध रूप से हो सके। मौके पर मौजूद रवि गोस्वामी, इदरीश मंसूरी, राजकुमार, सभासद श्रीपाल, बृजमोहन ने कहा कि अगर लाइनें दुरुस्त कराने के साथ टंकी से सप्लाई चालू करा दी जाए तो पानी की समस्या का समाधान हो जायेगा। अन्यथा वह लोग आंदोलन कर मुख्यमंत्री को शिकायत भेजेंगे।

Posted By: Jagran