जागरण संवाददाता, उरई : मंडल का पहला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कुठौंद अब आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल कर लिया गया है। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत जनपद में कुल 16 अस्पताल सूचीबद्ध हैं। इसमें 11 राजकीय और 6 निजी चिकित्सालय हैं। यहां आयुष्मान योजना के सभी लाभार्थी को उपचार की निश्शुल्क सुविधा दी जा रही है।

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत एक और राजकीय अस्पताल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कुठौंद को पंजीकृत कर लिया गया है। अब जनपद में कुल 16 अस्पताल योजना में शामिल हैं, जहां आयुष्मान योजना के सभी लाभार्थी को उपचार की निश्शुल्क सुविधा दी जाएगी, जिसमें 11 राजकीय और 6 निजी चिकित्सालय हैं। जनपद में कुठौंद पीएचसी पंजीकृत होने के बाद मरीजों को उपचार की सुविधा सुलभ हो सकेगी। आयुष्मान भारत योजना के डिस्ट्रिक्ट प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर (डीपीसी) डा. आशीष कुमार झा ने बताया कि विकासखंड कुठौंद में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नहीं होने की वजह से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को योजनांतर्गत सम्मिलित करने की प्रक्रिया जिलाधिकारी के अनुमोदन बाद किया गया। अब शीघ्र ही डकोर विकासखंड स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को जोड़ने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

--------------------------

गणतंत्र दिवस पर सीएचसी नदीगांव व कान्हा हॉस्पिटल होंगे पुरस्कृत :

आयुष्मान भारत योजना में सबसे अधिक लाभर्थियों को उपचार की सुविधा दिलाने के लिए दो अस्पतालों को प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नदीगांव और निजी अस्पतालों में कान्हा मल्टी स्पेसिलिटी हास्पिटल ने सबसे अधिक मरीजों का पंजीकरण किया है। गत वर्ष सीएचसी नदीगांव में कुल 122 मरीजों का उपचार योजनांतर्गत किया गया था।

--------------------------

जनपद के कुल 11,543 मरीजों का हुआ उपचार :

अब तक कुल 11543 मरीजों का योजना में उपचार हुआ है। प्रदेश के निजी अस्पतालों में 7253, जबकि राजकीय चिकित्सालयों में 3913 का उपचार अभी तक निश्शुल्क हुआ है। जिले के 55 प्रतिशत परिवारों तक आयुष्मान कार्ड पहुंच चुका है। अब तक जनपद में 157031 आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं।

Edited By: Jagran