संवाद सहयोगी, कोंच : लगातार घाटे में जा रहे विद्युत विभाग अब ट्रांसफार्मरों से जुड़े उपभोक्ताओं पर नजर रखेगा। इसके ट्रांसफार्मर पर मीटर लगाया जाएगा। उस मीटर के सापेक्ष विद्युत राशि वसूले जाने के लिए संबंधित कर्मचारियों पर शक्ति की जाएगी।

नगर में विद्युत विभाग को जितनी बिजली मिल रही है उसके सापेक्ष विभाग धनराशि नहीं वसूल पा रहा है। यही कारण है कि विभाग को लगातार घाटा हो रहा है। स्पष्ट है कि विद्युत चोरी पर विभाग अंकुश नहीं लगा पाया है। अब चोरी को रोकने के लिए ट्रांसफार्मरों पर नजर रखी जाएगी। एसडीओ अनिरुद्ध कुमार मौर्य ने शुक्रवार को अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के साथ इस सिलसिले में बैठक की। उन्होंने निर्देश दिए कि किस ट्रांसफार्मर पर कितने उपभोक्ता जुड़े हैं इसकी सूची बनाएं। किस ट्रांसफार्मर को कितनी बिजली मिल रही है बदले में कितना राजस्व प्राप्त हो रहा है इसका हिसाब रखें। उन्होंने बताया कि अभी इस प्रकिया की शुरुआत की जा रही है आने वाले दो चार महीनों में पूरी रणनीति तैयार की जाएगी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक ट्रांसफार्मर पर एक एनर्जी मीटर लगेगा जितनी एनर्जी ट्रांसफार्मर को मिल रही है उसी एनर्जी के सापेक्ष राजस्व भी मिलना चाहिए। मीटर रीडर यह कार्य करेंगे। इस कार्य के पूर्ण हो जाने से विद्युत चोरी में काफी कमी आएगी और घट रहा राजस्व भी बढ़ने लगेगा। नगर में अभी छोटे बड़े मिलाकर 110 के करीब ट्रांसफार्मर हैं जिनसे 10 हजार से अधिक उपभोक्ता जुड़े हुए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में भी यह पद्धति अपनाई जाएगी। इस दौरान जेई गौरव कुमार एवं जितेंद्र देव वर्मा मौजूद रहे।

Edited By: Jagran