कानून की जानकारी न होने पर दिव्यांग होते परेशान

संवाद सहयोगी, जालौन : नगर के एक गेस्ट हाउस में आल इंडिया कंफेडरेशन आफ द ब्लाइंड दिल्ली व डेनिस एसोसिएशन आफ द ब्लाइंड डेनमार्क की ओर से नेत्रहीनों की कार्यशाला संपन्न हुई। जिसमें दिव्यांगों को उनके अधिकारों एवं क्षमताओं से संबंधित जानकारी दी गई।

कार्यक्रम का शुभारंभ पालिकाध्यक्ष गिरीश चंद्र गुप्ता एवं दृष्टिहीन संस्था के महासचिव शंकर लाल गुप्ता द्वारा संयुक्त रूप से मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। कार्यशाला में भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष ऊषा गुप्ता ने कहा कि दिव्यांगों के लिए संस्था द्वारा जो कार्य किया जा रहा है, वह सराहनीय है। वह संस्था की हर संभव मदद और सहयोग करेंगी। पालिकाध्यक्ष ने भी संस्था एवं नेत्रहीनों को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। दृष्टिहीन संस्थान चित्रकूट के महासचिव ने नेत्रहीनों की समस्याओं के बारे में विस्तार से बताया। संस्था के परियोजना अधिकारी सुधांशु शुक्ला ने उन दृष्टि बाधितों से मिलवाया जिन्होंने प्रशिक्षण के माध्यम से अपने जीवन में बदलाव लाया है। संस्था द्वारा चयनित 300 प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण देकर 166 लोगों को आर्थिक रूप से पुनर्वासित किया गया है। जिन्हें अभी तक 25 लाख 47 हजार रुपया अनुदान के रूप में दिया गया है। संस्था का उद्देश्य दृष्टिहीनों को जागरूक करना है और उनको आत्मनिर्भर बनाना है। इस दौरान परियोजना अधिकारी सुधांशु शुक्ला, डीडीएम श्रीदुर्गा, बीबीएम सुनीता यादव, शैलेंद्र गुप्ता, अतुल बंसल, रामसिंह, अमल तिवारी, राकेश, पूजा व महेश आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran