जागरण संवाददाता, उरई : जिले की प्रभारी नीलिमा कटियार ने बुधवार को राजकीय मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने सबसे पहले नवस्थापित आक्सीजन जनरेटर प्लांट का देखा।

निरीक्षण के दौरान डॉ. प्रशांत निरंजन (प्रभारी अधिकारी, आक्सीजन) ने आक्सीजन जनरेटर प्लांट की क्षमता (960 लीटर प्रति मिनट) एवं क्रियाविधि के साथ स्क्रीन पैनल पर प्रदर्शित सभी स्विच की कार्यविधि समझाई्र।

प्राचार्य डॉ. डी नाथ ने बताया कि आक्सीजन जनरेटर प्लांट के लग जाने से जनपद में किसी भी प्रकार की आक्सीजन की कमी नहीं होगी। साथ ही यह भी बताया कि अतिरिक्त रूप से लिक्विड मेडिकल आक्सीजन का भी प्लांट लगेगा। कोरोना (कोविड-19) महामारी की संभावित तृतीय लहर को ²ष्टिगत करते हुए स्वीकृत दो आक्सीजन जनरेटर प्लांट में एक पूरी तरह तैयार हो चुका है एवं एक अन्य का सिविल कार्य कार्यदाई संस्था ने पूर्ण करा दी। शीघ्र ही जनहित एवं रोगीहित में आवश्यकतानुसार दोनों आक्सीजन जनरेटर प्लांट चालू करवा दिया जाएगा। प्रदेश स्तर पर उद्घाटन सीएम योगी आदित्यनाथ स्वयं करेंगे। यह सब जन प्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों के सहयोग से हो सका है। बुंदेलखंड में सबसे पहले राजकीय मेडिकल कालेज में एक आक्सीजन प्लांट पूरी तरह से तैयार है, एवं एक अन्य का कार्य भी पूर्ण होने के कगार पर है। तीसरी लहर पर्व तैयार हो नीकू और पीकू वार्ड :

कोरोना (कोविड-19) की संभावित तीसरी लहर में बच्चों के अधिकाधिक संख्या में संक्रमित होने की आशंका को देखते निर्देश दिए गए कि एनआईसीयू, पीआईसीयू, वार्ड, आक्सीजन सप्लाई इत्यादि में सभी आवश्यक कार्य पूर्ण रूप से दुरुस्त होना चाहिए। साथ ही चिकित्सकीय टीम महामारी के खिलाफ लड़ने में पूरी तरह से सुसज्जित हों। इस दौरान डॉ. नूतन अग्रवाल (नोडल अधिकारी, कोरोना), डॉ मनोज वर्मा (सहायक आचार्य ,अस्थिरोग विभाग), डॉ संजीव गुप्ता (चिकित्सा अधीक्षक), डॉ. जितेन्द्र मिश्रा (चिकित्सा अधीक्षक), भानु प्रताप वर्मा (सांसद, जालौन गरौठा भोगनीपुर), गौरी शंकर वर्मा (विधायक, सदर उरई), नरेंद्र सिंह जादौन (विधायक, कालपी) आदि उपस्थित रहें। कोट

बुंदेलखंड में कई जगह यह प्लांट बन रहे हैं। सबसे पहले जालौन में तैयार हुआ है। इसलिए यह बुंदेलखंड का प्रथम आक्सीजन प्लांट है।

डी नाथ, प्रचार्य मेडिकल कालेज

Edited By: Jagran