जागरण संवाददाता, हाथरस: डीएम रमेश रंजन ने सिकंदराराऊ ब्लाक में साधन सहकारी समिति लिमिटेड अगसौली तथा पीसीएफ गेहूं क्रय केंद्र का सोमवार को निरीक्षण किया। इस दौरान सिकंदराराऊ के अगसौली गेहूं क्रय केंद्र पर अव्यवस्थाएं मिलीं। सवालों का जवाब भी ठीक से नहीं दे पाए केंद्र प्रभारी। डीएम ने कार्रवाई के निर्देश दिए। एआर के अनुसार केंद्र प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है।

डीएम ने निरीक्षण के दौरान केंद्र प्रभारी वीरेश कुमार से पूछा कि कितने किसान गेहूं बेचने आए तथा कितने क्विटल गेहूं खरीदा गया। उन्होंने निरीक्षण रजिस्टर, बोरों की संख्या तथा किसानों को पीने के लिए स्वच्छ पानी की व्यवस्था के बारे में जानकारी ली। प्रभारी वीरेश कुमार किसी भी प्रश्न का संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके। जिलाधिकारी ने केंद्र पर अव्यवस्था एवं गेहूं का उठान न होने पर नाराजगी जताई। एआर अरविद कुमार दुबे कॉपरेटिव हाथरस को प्रभारी निरीक्षक के विरुद्ध नियमानुसार कठोर कार्रवाई करने के सख्त निर्देश दिए। देर शाम केंद्र प्रभारी को निलंबित करने की बात कही गई। टीकाकरण की धीमी गति पर नाराजगी

साधन सहकारी समिति लिमिटेड अगसौली में स्थित पीएचसी के प्रभारी डा. देवेंद्र सिंह ने जिलाधिकारी को बताया कि अगसौली में 2000 की आबादी है, जिसमें 500 व्यक्तियों का टीकाकरण किया गया है। जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि टीकाकरण की गति धीमी है। अधिक से अधिक व्यक्तियों का टीकाकरण कराने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने पीसीएफ सेंटर, गेहूं क्रय केंद्र सिकंदराराऊ का भी निरीक्षण किया। केंद्र प्रभारी जय प्रकाश ने बताया कि 8,600 क्विटल गेहूं की अब तक खरीद की जा चुकी है तथा हमारे पास लगभग 400 बोरे हैं। गेहूं उठान में दो गाड़ियां लगी हुई हैं।

मुख्य विकास अधिकारी आरबी भास्कर, उप जिलाधिकारी मनोज कुमार सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी बनवारी सिंह, खाद्य एवं विपणन अधिकारी राजेश सिंह भी उपस्थित थे।

मनरेगा के कार्यों की गति धीमी देख डीएम हुए नाराज

जासं, हाथरस : डीएम रमेश रंजन ने सिकंदराराऊ ब्लाक के ग्राम महमूदपुर में मनरेगा के तहत बनाए जा रहे तालाब का भी निरीक्षण किया। मनरेगा के कार्यों की गति धीमी देख नाराजगी जताई।

उप जिलाधिकारी ने बताया कि लगभग पांच बीघा जमीन पर 15 लाख 26 हजार की धनराशि से तालाब का निर्माण कराया जा रहा है। जिलाधिकारी को तालाब में 14 व्यक्ति कार्य करते मिले। उन्होंने कार्य की धीमी गति पर नाराजगी व्यक्त की। मजदूरों की संख्या पांच गुना बढ़ाने निर्देश दिए। तालाब से अवैध कब्जे को प्राथमिकता के आधार पर हटवाने के निर्देश दिए। जिला पंचायत राज अधिकारी बनवारी को निर्देश दिया कि पंचायत से होने वाले कार्यों में तालाब के चारों तरफ इंटरलॉकिग, वृक्षारोपण एवं सुंदरीकरण कराए जाएं।

गोशाला में सब ठीकठाक मिला

जिलाधिकारी रमेश रंजन ने गोशाला नगर पालिका परिषद सिकंदराराऊ का निरीक्षण किया। गोशाला के संरक्षक रविदास ने जिलाधिकारी को बताया कि गोशाला में 28 गायें हैं जिनको अच्छी तरह से चारा की व्यवस्था तथा प्रतिदिन साफ-सफाई की जाती है। जिलाधिकारी ने ईओ डा. ब्रिजेश कुमार को निर्देश दिए कि गोशाला में गायों के स्वास्थ्य की चिकित्सकों द्वारा समय-समय पर जांच कराए जाने की व्यवस्था करें।

Edited By: Jagran