जासं, हाथरस : हाल ही में आंधी और बारिश ने बिजली विभाग को तगड़ा झटका दिया है। पोल और तार टूटने से 12 लाख का नुकसान हुआ है। सबसे अधिक नुकसान सहपऊ और मुरसान क्षेत्र में हुआ है। अभी तक कुछ इलाकों में आपूर्ति सामान्य नहीं हो पा रही है।

गुरुवार की शाम अचानक तेज आंधी आई थी। फिर बारिश होने लगी थी। इससे कई स्थानों पर पेड़ टूटकर विद्युत लाइनों पर गिरे और खंभे भी उखड़ गए। 11 केवी की लाइन के पोल और लाइनों को अधिक नुकसान हुआ है। मुरसान क्षेत्र में खुटीपुरी फीडर से जुड़ी लाइन को अधिक नुकसान हुआ। सहपऊ क्षेत्र में गांव सिखरा में बिजली के चार, गांव करकौली में दो, गांव नगला रतिया में दो के अलावा क्षेत्र के अन्य गांवों में बिजली के पोल टूटने से गुरुवार की रात पूरे देहात क्षेत्र में बिजली बाधित रही। पेड़ उखड़ने से वहां से गुजरने वाले राहगीरों को भी परेशानी का सामना करना पड़ा। बता दें कि गांव लोधई में एक मकान पर नीम का पेड़ गिरने से मकान क्षतिग्रस्त हो गया था। शुक्रवार को बिजली विभाग ने टूटे हुए पोलों को बदलने का कार्य प्रारंभ कर दिया था। शनिवार को भी बिजली विभाग के कर्मचारी लगे रहे। फिर भी कुछ स्थानों पर बिजली न होने के कारण ग्रामीणों को परेशानी उठानी पड़ रही है। बिजली विभाग के अनुसार आंधी से 105 पोल और तार टूटे हैं। सबसे अधिक पोल 11 केवी की लाइन के टूटे हैं।

आंधी और बारिश से बिजली विभाग को लाखों का नुकसान हुआ है। कर्मचारी लगातार आपूर्ति सुचारू करने में लगे है। हालात शीघ्र सामान्य हो जाएंगे।

पवन अग्रवाल, अधीक्षण अभियंता

Edited By: Jagran