जागरण संवाददाता, हाथरस : केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण एक फरवरी को जब आम बजट पेश करेंगी, तब उनसे महिलाओं की कुछ ज्यादा ही अपेक्षाएं होंगी। ऐसा इसलिए भी कि महिला वित्तमंत्री दूसरी बार बजट पेश कर रही हैं। गृहणियों की मानें तो महिला होने के नाते वित्तमंत्री रसोई पर महंगाई की मार से बखूबी वाकिफ होंगी। महिलाएं रसोई गैस, दूध, प्याज आदि के दामों में गिरावट की मांग कर रही हैं। उनका कहना है कि इस बार ऐसा बजट पेश किया जाए, जिससे रसोई की महंगाई कम हो।

दैनिक उपभोग की वस्तुएं महंगी होने से आम आदमी सबसे ज्यादा प्रभावित होता है। मसलन रसोई गैस, सब्जी, घी-तेल इत्यादि। पिछले वर्ष प्याज व टमाटर ने लोगों को खूब रुलाया। वहीं ठंड आते-आते गैस के दाम में इजाफा हुआ। यही वजह है कि इस बार गृहणियां बजट में राहत की मांग कर रही हैं। उनकी मांग है कि बजट इस तरह पेश हो कि रसोई पर महंगाई न बढ़े। बल्कि दैनिक उपभोग व खाद्य पदार्थों को जीएसटी मुक्त किया जाए, जिससे आम आदमी से बोझ कुछ हल्का हो। पिछले एक वर्ष में रसोई का बजट गड़बड़ाया है। बजट में किसान, आयकर, ऋण, रियल एस्टेट आदि पर तो फोकस रहता है, लेकिन रसोई पर नहीं। गृहणियों की पीड़ा

किसान व मिडिल क्लास को ध्यान में रखते हुए सरकार को बजट पास करना चाहिए। कृषि प्रधान देश होने के कारण किसानों को सहूलियत जरूरी है। तभी अन्य वर्ग का भला होगा।

-सीमा अग्रवाल, गृहणी आम आदमी पर रसोई की महंगाई से सीधा असर पड़ता है। बजट गड़बड़ा जाता है। रसोई गैस, दूध, प्याज जैसी चीजें मूलभूत जरूरतें हैं। बजट में ध्यान रखा जाए कि रसोई पर महंगाई न बढ़े।

शिवानी शर्मा, गृहणी वर्तमान हालात किसी से छिपे नहीं हैं। हर चीज पर महंगाई हावी है। सोर्स ऑफ इनकम वहीं के वहीं हैं। इस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए। दैनिक उपभोग की वस्तुओं में रियायत बरती जाए।

-सुमन सिंह, गृहणी सरकार को जमाखोरों पर अंकुश लगाना चाहिए, जिससे प्याज, टमाटर व अन्य खाद्य पदार्थों पर महंगाई न हो। रसोई गैस के बढ़ते दामों पर भी नियंत्रण करने की आवश्यकता है।

सपना अग्रवाल, गृहणि दो महीने में बदले भाव

वस्तुएं, पहले, अब

सिलेंडर, 690, 721

दूध, 45, 50

प्याज, 30, 70

चीनी, 36, 38

आटा, 22, 26

रिफाइंड, 90, 110

मूंग की दाल, 80, 100

तेल सरसों 90, 100

पिसी लाल मिर्च, 200, 260

हल्दी, 115, 130

धनिया, 80, 90

अरहर की दाल,65, 70

नोट:-दाम प्रति किलो।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस