जागरण टीम, हाथरस: कोरोना संक्रमण की वजह से सासनी में तैनात शिक्षक और सिकंदराराऊ के एक शिक्षामित्र की मौत से शिक्षा जगत में शोक की लहर है।

सासनी के गांव मुहरिया के शिक्षक की ब्लाक के एक विद्यालय में हेड मास्टर के पद पर तैनाती थी। पिछले दिनों चुनावी ड्यूटी के बाद अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई थी। स्वजन ने अलीगढ़ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां कोरोना की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। बुधवार को कोरोना संक्रमण के कारण शिक्षक की मौत हो गई।

सिकंदराराऊ के ग्राम लालगढ़ी के निवासी शिक्षामित्र की भी कोरोना के कारण मौत हो गई है। मृतक के भाई ने बताया कि पांच दिन पहले उनके भाई को सांस लेने में दिक्कत हुई थी। अलीगढ़ के एक निजी अस्पताल में ले जाया गया, जहां उनकी कोविड की जांच रिपोर्ट पाजिटिव आने के बाद अस्पताल ने भर्ती करने को कहा। वहीं उनका इलाज चल रहा था। बुधवार की रात आठ बजे खाना खिलाया था और घरवालों से भी बात कराई थी। इसके तुरंत बाद ही अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म हो गई, जो उनके भाई के लिए जानलेवा साबित हुई। डॉक्टरों ने बताया कि जहां से ऑक्सीजन आनी थी, अभी तक नहीं आ पाई है। रात साढ़े नौ बजे भाई की मौत हो गई। शिक्षकों ने की शोक सभा

संसू, सासनी : क्षेत्र में एक शिक्षक की कोरोना से मौत पर गुरुवार को प्राथमिक शिक्षा संघ के अध्यक्ष संतोष कुमार शर्मा की अध्यक्षता में शोकसभा हुई जिसमें गहरा शोक व्यक्त किया गया। उनकी आत्मा की शांति व परिवार को संबल के लिए प्रार्थना की गई। शोकसभा में यतेन्द्र पाठक, अनिल भारद्वाज, भूपेश सारस्वत, जितेन्द्र शर्मा, मंजू रानी, तृप्ती शर्मा, नीलम सिंह, दिनेश शर्मा, जुगेन्द्र सिंह, भगवत प्रताप, शिव कुमार, ललित कुमार, मोकम लाल, महताब सिंह, शैलेश सारस्वत, अमर प्रकाश, आशीष शर्मा, रामहेतु नंदन मौजूद रहे।

Edited By: Jagran