संवाद सूत्र, हाथरस : सिकंदराराऊ के गांव जरीनपुर भुर्रका में अखाड़े में व्यायाम को लेकर दो पक्ष आमने-सामने आ गए। इनमें जमकर मारपीट, पथराव व फाय¨रग हुई। घटना से गांव में अफरा-तफरी मच गई। फाय¨रग में दो लोग घायल हो गए। झगड़े के दौरान एक खोखे में आग लगा दी गई। बवाल पर भारी संख्या में पुलिस बल गांव पहुंचा। दमकल भी बुलाई गई। पुलिस के आने से पहले उपद्रवी फरार हो गए। एक पक्ष की ओर से तहरीर दी गई है।

विवाद की शुरुआत 27 दिसंबर को अखाड़े में हुई थी। शाम के समय पुष्पेंद्र पुत्र राजेश और सत्ते पुत्र दामोदर के बीच पहले जोर आजमाइश को लेकर कहासुनी हो गई थी। इनमें हाथापाई भी हुई, लेकिन वहां पहलवानों ने मामला शांत करा दिया था। शुक्रवार की सुबह सात बजे पुष्पेंद्र अपने पिता राजेश व दोस्त विपिन के साथ अखाड़े पर गया था। अखाड़े पर सत्ते मौजूद था। एक-दूसरे पर टिप्पणी करने के कारण फिर से विवाद हो गया। फिर दोनों पक्ष से दर्जनों लोग आमने-सामने आ गए। लाठी-डंडे, फरसे व अवैध असलाह निकल आए। जो हाथ लगा उससे हमला किया गया। ताबड़तोड़ कई राउंड फायर किए गए। गांव में एक खोखा भी जला दिया गया। बवाल से गांव में अफरा-तफरी मच गई। लोग घरों में घुस गए। फाय¨रग में राजेश व दूसरे पक्ष से दामोदर घायल हो गए। सूचना पर निरीक्षक गजराज ¨सह एवं पोरा पुलिस चौकी प्रभारी अविनाशचंद्र दुबे पहुंच गए। सीओ आशीष प्रताप ¨सह भी गांव पहुंचे। राजेश की हालत गंभीर होने के कारण उन्हें सीएचसी से अलीगढ़ रेफर किया गया। वहीं दामोदर को जिला अस्पताल ले जाया गया।

राजेश के भाई राजेंद्र ने सत्ते के अलावा उसके भाई अवधेश उर्फ भोला व देवेंद्र तथा पिता दामोदर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। गांव में फोर्स तैनात कर दिया गया है। उपद्रवियों की तलाश की जा रही है। इनका कहना है

व्यायाम को लेकर विवाद हुआ था। राजेश को अलीगढ़ भेजा गया है। हालात सामान्य है। एक पक्ष की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। आरोपितों की तलाश की जा रही है। किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

-आशीष प्रताप ¨सह, सीओ सिकंदराराऊ

Posted By: Jagran