Move to Jagran APP

Hathras Stampede: साकार नारायण विश्व हरि के वकील ने बसपा सुप्रीमो मायावती के बयान पर जताई नाराजगी, कहा- इससे फैलेगी अराजकता

Hathras SIT Report हाथरस भगदड़ मामले में एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी। जिसमें आयोजक और तहसील स्तरीय पुलिस व प्रशासन को दोषी पाया गया जिसके बाद एसडीएम-सीओ समेत कुल छह अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया। अब बसपा सुप्रीमो मायावती ने रिपोर्ट में भोले बाबा का जिक्र न होने पर एसआईटी रिपोर्ट पर सवाल खड़े किए।

By Jagran News Edited By: Vivek Shukla Wed, 10 Jul 2024 03:49 PM (IST)
Hathras Stampede: साकार नारायण विश्व हरि के वकील ने बसपा सुप्रीमो मायावती के बयान पर जताई नाराजगी, कहा- इससे फैलेगी अराजकता
अधिवक्ता एपी सिंह ने मायावती पर निशाना साधा है। जागरण

डि‍जिटल डेस्‍क, हाथरस। उत्तर प्रदेश के हाथरस में सूरजपाल सिंह (नारायण साकार विश्व हरि) के सत्संग के बाद भगदड़ मचने के कारण 121 लोगों की हुई मौत के मामले में स्वयंभू बाबा के अधिवक्ता एपी सिंह ने मायावती पर निशाना साधा है। उन्‍होंने कहा कि बाबा को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती के बयान से अराजकता फैलेगी। उन्‍हें अपना बयान वापस लेना होगा।

उन्‍होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती जी का बयान काफी दुखद है। वास्‍तव में यह उनकी डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के बनाए हुए संविधान पर विश्वास न करने वाली बात है और साथ में यह वंचित समाज के लिए दुखद है। क्‍या गरीब मजदूर परिवार को आस्था, श्रद्धा और विश्वास के लिए अधिकार नहीं है? क्या वह भक्ति भाव नहीं कर सकते हैं? क्या समागम नहीं कर सकते हैं?

कहा कि बहन मायावती ने भोले बाबा नारायण साकार हरि के लिए एसआईटी की रिपोर्ट पर विश्‍वास नहीं है? क्या उन्हें उत्तर प्रदेश के आलाधिकारियों पर भरोसा नहीं? क्या उन्हें हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज पर भरोसा नहीं है? जो यह सवालिया निशान लगा रही हैं। बाबा घटना से आधे घंटे पहले निकल गए थे। उसके बाद भी उनपर आरोप लगाए जा रहे हैं। इससे वंचित समाज दुखी है। मायावती को अपना बयान वापस लेना चाहिए।

दरअसल, एसआईटी की जांच रिपोर्ट (Hathras SIT Report) सामने आने के बाद इस मामले पर राजनीति भी गरमा गई है। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व बसपा सुप्रीमो मायावती ने एसआईटी रिपोर्ट पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है।

इसे भी पढ़ें-ससुराल के लोगों ने उड़ाया मजाक, दूल्‍हे ने बुलडोजर पर बैठकर निकाली बारात

बसपा सुप्रीमो ने कहा- यूपी के हाथरस में सत्संग भगदड़ कांड में हुई 121 निर्दोष महिलाओं व बच्चों आदि की दर्दनाक मौत सरकारी लापरवाही का जीता-जागता प्रमाण है।

भोले बाबा को लेकर मायावती ने कहा- इस अति-जानलेवा घटना के मुख्य आयोजक भोले बाबा (Hathras Bhole Baba) की भूमिका के सम्बंध में एसआईटी की खामोशी भी लोगों में चिन्ताओं का कारण है। साथ ही, उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के बजाय उसे क्लीनचिट देने का प्रयास चर्चा का विषय है।

इसे भी पढ़ें-गाजीपुर तिहरा हत्याकांड का खुलासा: पहले मां, फिर पिता और अंत में भाई का काटा गला, घर का 'लाडला' इश्‍क में बना हैवान

उन्होंने सरकार से ऐसी घटनाओं की ओर ध्यान देने का आग्रह किया है, ताकि ऐसी घटनाओं का कभी पुनरावृत्ति न हो।