संसू, हाथरस : सिंकदराराऊ क्षेत्र के गांव मऊ चिरायल के मजरा सबदलपुर में रविवार की शाम गोली लगने से दिनेश की मौत के मामले में चार लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया गया है। घटना के मूल में प्रेम प्रसंग होना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।

गांव मऊ चिरायल के मजरा सबदलपुर निवासी हरनाम सिंह ने रिपोर्ट लिखाई है कि 20 अक्टूबर की शाम अपने पुत्र दिनेश सिंह व बेटी मंजू देवी के साथ खेत की मेड़ से घास सफाई कर रहे थे तभी चार लोग आलमपुर निवासी सुरेंद्र सिंह , सतीश सिंह , राजेंद्र सिंह व सोमवीर सिंह अपने हाथों में तमंचा लहराते हुए आए। कहा कि तू बेटी को बहुत परेशान करता है, आज तुझे बताते हैं। चारों आरोपितों ने मिलकर दिनेश को जान से मारने के लिए फायर कर दिया। मैंने तथा बेटी मंजू देवी ने दिनेश को बचाया तो चारों आरोपित जान से मारने की धमकी देते हुए भाग गए। गोली लगने पर दिनेश को गंभीर हालत में अलीगढ़ मेडिकल कालेज ले गए। वहां से रेफर करने पर निजी अस्पताल ले जाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई। परिजन शव को घर ले आए।

कोतवाल डीके सिसौदिया ने बताया कि एक माह पूर्व न्यायालय के आदेश पर सुरेंद्र सिंह ने मृतक दिनेश सिंह के खिलाफ अपनी पुत्री को भगा ले जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी जबकि वह भागी ही नहीं थी। 18 दिन बाद उसको पेश किया गया, जिसने अपने बयान में कहा था कि उसे रिश्तेदारी में भेज दिया गया था। पुलिस ने उसका मेडिकल कराया था। अगली तारीख पर उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि तहरीर के आधार पर आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। शीघ्र ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। पीएसी व पुलिस बल की मौजूदगी में हुआ अंतिम संस्कार

दिनेश सिंह का शव पोस्टमार्टम के बाद सोमवार की शाम को जैसे ही गाव सबदलपुर पहुंचा तो कोहराम मच गया। बड़ी संख्या में ग्रामीण वहा एकत्रित हो गए। परिवारीजनों का रो-रोकर बुरा हाल था । मृतक दो भाइयों में छोटा था। कोतवाल डीके सिसोदिया अंतिम संस्कार कराने के लिए पुलिस व पीएसी के साथ पहले से ही गाव में पहुंच गए थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप