जासं, हाथरस : जिलाधिकारी रमेश रंजन ने सिचाई, लघु सिचाई एवं नलकूप विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की समीक्षा बैठक करते हुए नहरों की सिल्ट सफाई कराते हुए रोस्टर के अनुसार पर पानी टेल तक पहुंचाने के निर्देश दिए। कहा कि अफसर तालाबों की हकीकत फोटो के जरिए भेजना सुनिश्चित करें।

सहायक अभियंता नलकूप विभाग सुमित कुमार ने बताया कि जनपद में राजकीय नलकूपों की संख्या 196 हैं जिसमें से वर्तमान में 4 नलकूप यांत्रिक दोष होने के कारण खराब हैं। इन नलकूपों के माध्यम से जनपद में 4150 हेक्टेयर भूमि की सिचाई की जाती है। जिलाधिकारी ने खराब नलकूपों को तत्काल ठीक कराने के निर्देश दिए। अधिशासी अभियंता सिचाई खंड हाथरस बलजीत सिंह ने बताया कि हाथरस ब्रांच में 18 कैनाल हैं, जिन पर सफाई कार्य चल रहा है। 20 किलोमीटर का क्षेत्र सफाई कार्य के लिए अवशेष है। अवशेष कार्यों को पूर्ण कराते हुए निर्धारित रोस्टर के अनुसार पानी टेल तक उपलब्ध कराया जाएगा। सहायक अभियंता सिचाई खंड फीरोजाबाद अनुज यादव ने बताया कि सिचाई खंड फीरोजाबाद के तहत विकास खंड हसायन में साप्ताहिक रोस्टर के अनुसार टेल तक पानी पहुंचाया जा रहा है। पुलियों की मरम्मत के संबंध में शासन द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में 3 दिन के लिए नहर बंद की गई थी। सहायक अभियंता सिचाई खंड अलीगढ़ गिर्राज सिंह ने बताया कि अलीगढ़ खंड गंगा नहर में 17 कैनाल हैं जिनमें रोस्टर के अनुसार नियमित रूप से पानी की सप्लाई की जा रही है। सहायक अभियंता लघु सिचाई ने बताया कि 1 से 5 हेक्टेयर के मध्य तालाबों के सुंदरीकरण एवं खोदाई का कार्य कराया जाता है। पिछले वित्तीय वर्ष में 38 तालाबों की खोदाई कार्य के लिए प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया गया था, परंतु शासन से स्वीकृति प्राप्त नहीं हुई है। पूर्व में विभाग द्वारा जनपद में पांच तालाब बनवाए गए थे जिस पर जिलाधिकारी ने सहायक अभियंता लघु सिचाई को मौके पर जाकर तालाबों की वर्तमान स्थिति का जायजा लेते हुए फोटोग्राफ्स उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में प्रभारी अधिकारी कलक्ट्रेट राजकुमार सिंह यादव, अपर सांख्यिकी अधिकारी, अधीक्षण अभियंता माइनर अजीत कुमार, गौरव कुमार सिंह उपस्थित रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप