जागरण संवाददाता, हाथरस : नगर पंचायत मेंडू के अध्यक्ष मनोहर सिंह आर्य ने मेंडू की अधिशासी अधिकारी अनामिका सिंह एवं एक बाबू रामभरोसे व विपिन कुमार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए डीएम रमेश रंजन से शिकायत कर जांच की मांग की है। कहा है कि ईओ ने बाबू से मिलकर लाखों रुपये का भुगतान फर्मों को करा दिया।

डीएम को भेजे गए शिकायती पत्र की प्रतिलिपि नगर विकास मंत्री, निदेशक नगर निकाय, एडीएम और एसपी को भी भेजी है। चेयरमैन आर्य ने सभासद स्नेहा शर्मा, मदनमोहन, नूतन अग्रवाल, शेर सिंह, नीलम देवी समेत अन्य सभासदों के हस्ताक्षरयुक्त पत्र में आरोप लगाया है कि उनके फर्जी हस्ताक्षर से 40 लाख का भुगतान किया गया है। जिन फर्मो को भुगतान किया गया है उनमें रामभरोसे, अनामिका सिंह, महक इंटरप्राइजेज हैं। 17 फर्माें को भुगतान कर सरकारी धन का दुरुपयोग किया गया है। आरोप है कि यह कार्य ईओ व कुछ लिपिकों ने मिलीभगत से किया है। इससे नगर पंचायत में खलबली मच गई है।

ये सभी भुगतान जनवरी से जून 21 के बीच किए गए हैं। ईओ अनामिका सिंह और बाबू के खिलाफ जांच कराकर इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाए। पहले भी लगते रहे आरोप-प्रत्यारोप

नगर पंचायत में फर्जीवाड़ा कोई नई बात नहीं है। कुछ माह पूर्व नगर पंचायत की ईओ ने चेयरमैन पर फर्जी हस्ताक्षर कर फर्माें को भुगतान करने के आरोप लगाए थे। इसके बाद चेयरमैन पर कार्रवाई हुई थी। इनकी भी सुनिए

किसी भुगतान से पहले फाइल चेयरमैन के पास जाती है। उनसे हस्ताक्षर होते हैं, जिससे उनकी सेटिग हो जाती है उसका भुगतान करा दिया जाता है। चेयरमैन के खिलाफ भी गबन की एक रिपोर्ट शासन को भेजी जा चुकी है। छवि धूमिल करने के लिए मुझ पर आरोप लगाए जा रहे हैं। चेयरमैन के खिलाफ मैं मानहानि का दावा करूंगी।

अनामिका सिंह, अधिशासी अधिकारी मेंडू हाथरस।

ईओ नगर पालिका के खिलाफ लगे आरोपों की जांच के लिए ओसी कलक्ट्रेट राज कुमार सिंह को भेजा गया था। वह पूरे मामले की जांच करके रिपोर्ट देंगे तब किसी निष्कर्ष पर पहुंचकर कार्रवाई करेंगे।

रमेश रंजन, डीएम हाथरस।

Edited By: Jagran