संस, हाथरस : कोरोना की तीसरी लहर के खौफ में लोग टीकाकरण कराकर खुद को सुरक्षित कर रहे हैं। गुरुवार को 81 केंद्रों पर 10,062 लोगों का टीकाकरण कराया गया।

डब्लूएचओ ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखकर सतर्क कर दिया है। संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनने के साथ-साथ शारीरिक दूरी का पालन किया जाना बहुत आवश्यक है। लगातार लोगों को कोविड नियमों के प्रति सचेत किया जा रहा है। वहीं वैक्सीन लगवाने के लिए अपील की जा रही है। गुरुवार को 18 साल से अधिक आयु वर्ग के 6143 लोगों को वैक्सीन की प्रथम डोज लगाई गई। 149 लोगों को दूसरी डोज दी गई। 45 साल से अधिक आयु वर्ग के 2258 लोगों को प्रथम डोज लगाई गई। 1512 लोगों को दूसरी डोज दी गई। 17 दिन बाद सर्वाधिक टीके

कोरोना वैक्सीन खत्म हो जाने का सिलसिला पिछले कई दिनों से चल रहा था। संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए बड़ी मात्रा में वैक्सीन दी जा रही है। 22 जुलाई से पूर्व 05 जुलाई को सबसे अधिक टीकाकरण हुआ था। पांच जुलाई को 10,636 लोगों के टीके लगे थे। टीका लगवाने को लेकर हेल्थ टीम से कहासुनी

संसू, सिकंदराराऊ : गांव निहालपुर में टीकाकरण करने गई टीम के साथ पहले टीका लगवाने को लेकर कुछ ग्रामीण भिड़ गए। इससे हंगामा हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने टीकाकरण कराया। गुरुवार को डॉ.जितेंद्र कुमार, बीपीएम मुकुल कुमार एवं दो एएनएम की टीम कासगंज रोड स्थित गांव निहालपुर में टीकाकरण करने गई थी। दो लोगों ने टीम से पहले टीका लगाने के लिए कहा तो टीम के सदस्यों ने बारी से आने के लिए कहा, जिसपर वे झगड़ा करने लगे। तमाम ग्रामीण एकत्रित हो गए। टीम से कहासुनी पर टीकाकरण बंद हो गया। टीम ने सूचना चिकित्सा अधीक्षक डॉ. रजनीश यादव को दी तब अगसौली चौकी से पुलिस बल पहुंचा। यहां 60 लोगों को टीके लगाए गए। कोतवाल प्रवेश राणा का कहना है कि झगड़े जैसी कोई बात नहीं थी। पुलिस के पहुंचने से पहले ही मामला शांत हो गया था।