हाथरस, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित हाथरस कांड में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआइ) बुधवार को फिर पीड़ित परिवार से पूछताछ कर रही है। इसके लिए मृत पीड़िता के दोनों भाइयों और पिता को हाथरस में कृषि कार्यालय स्थित सीबीआइ के अस्थाई कार्यालय में बुलाया गया। पुलिस की एक टीम तीनों को लेकर दोपहर में  कृषि कार्यालय पहुंची, जिसके बाद जांच एजेंसी ने इनसे करीब चार घंटे तक पूछताछ की।

हाथरस केस की जांच कर रही सीबीआइ की एक टीम ने हाथरस जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड का भी निरीक्षण किया। जांच एजेंसी ने पहले दिन जिला अस्पताल लाई गई पीड़िता के संबंध में अस्पताल प्रशासन से बातचीत की है। हाथरस जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ. बी. सिंह ने बताया कि अस्पताल में केवल सात दिनों तक के सीसीटीवी फुटेज बैकअप की एक व्यवस्था है। फिर एक महीने की फुटेज देना कैसे संभव है।

इस बीच हाथरस के बूलगढ़ी गांव में सन्नाटा पसरा है। आसपास के गांवों में भी न दहशत कम हुई है और न तनाव। इसके चलते हर ओर पुलिस तैनात है। सीबीआइ मृतका के दोनों भाइयों और पिता से पूछताछ कर रही है। इसके लिए तीनों को लेकर पुलिस सीबीआइ के अस्थाई कार्यालय पहुंची है। बताया जा रहा है कि सीबीआइ की एक टीम अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों से भी पूछताछ करने के लिए जाएगी। पीड़िता को घटना के दूसरे दिन अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। 

बता दें कि हाथरस के बूलगढ़ी कांड में सच जानने के लिए साढ़े चार घंटे छानबीन के बाद मंगलवार शाम चार बजे गांव से निकली सीबीआइ टीम मृतका के बड़े भाई को साथ लेकर गई थी। अलीगढ़ रोड स्थित अपने अस्थाई कार्यालय पर ले जाकर उससे पूछताछ की गई। सीबीआइ ने उससे अकेले में कई बिंदुओं पर जानकारी की। करीब साढ़े तीन घंटे तक उससे पूछताछ के बाद रात साढ़े सात बजे घर भेज दिया गया। शाम को करीब आठ बजे गांव वापस पहुंचे पीड़िता के भाई ने बताया कि उससे कोई पूछताछ नहीं की गई। घटनास्थल से जो साक्ष्य, अंत्येष्टि स्थल से राख, लकड़ी आदि सैंपल टीम लेकर गई थी। उस पर हस्ताक्षर आदि की प्रक्रिया कराई थी।

हाथरस केस की जांच सीबीआइ ने शुरू कर दी है। सीबाआइ टीम के लिए अलीगढ़ रोड स्थित उप निदेशक कृषि के कार्यालय में अस्थायी ऑफिस के लिए स्थान दिया गया है। वहां मीटिंग हॉल के अलावा डीडी ऑफिस और एक अन्य कक्ष उपलब्ध कराया गया है। टीम के सदस्य यहीं रहकर इस प्रकरण से जुड़े लोगों से पूछताछ कर रहे हैं। मंगलवार को पूरे दिन में गांव में पड़ताल करने के बाद मृतका के भाई को बुलाकर यहीं पर पूछताछ की गई थी। सोमवार को सीडीओ, एसडीएम व सीडीओ ने सीबीआई के लिए अस्थायी दफ्तर के लिए कई स्थानों का निरीक्षण किया था। बाद में अलीगढ़ रोड स्थित उप निदेशक कार्यालय को फाइनल कर दिया गया था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस