जागरण टीम हाथरस: मुरसान क्षेत्र में 24 घंटे के अंदर तीन लोगों की मौत हो जाने से कोहराम मच गया। वहीं, अलीगढ़ रोड स्थित नगला सिघी में 10 वर्षीय बच्चे की तबीयत बिगड़ने पर स्वजन उसे जिला अस्पताल लेकर आए। जहां चिकित्सकों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

कस्बा मुरसान के एक मोहल्ला में महिला पिछले कई दिनों से बीमार चल रही थी। स्वजन के द्वारा निजी अस्पताल में लेकर गए, मगर किसी भी हास्पिटल में महिला को उपचार नहीं मिला। शुक्रवार की रात महिला की मौत ही गई। मुरसान के प्राइवेट डाक्टर भी बीमारी के चलते जिदगी की जंग हार गए। डाक्टर की भी सुबह तड़के बीमारी के चलते अपने आवास पर ही मौत हो गई। वहीं, मुरसान के पास गांव खरगू में भी एक युवक की मौत ही गयी। खरगू के रहने वाले गोपाल ने बताया कि उसके पिता रामबाबू कई दिनों से बीमार चल रहे थे। उन्हें कई जगह इलाज के लिए लेकर गए, मगर सांस लेने में दिक्कत के कारण उनको बेहतर उपचार नहीं मिल सका। शनिवार दोपहर को व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक की बेटी राधा की शादी 23 मई को इगलास क्षेत्र के गांव जवाहर से होने थी।

बुखार से बच्चे की मौत

नगला सिघी निवासी दस वर्षीय अवनी को पिछले कई दिनों से बुखार आ रहा था। स्वजन द्वारा निजी चिकित्सक के यहां बच्चे का उपचार कराया जा रहा था। शनिवार दोपहर को बच्चे की तबीयत बिगड़ने पर स्वजन उसे लेकर जिला अस्पताल की इमरजेंसी कक्ष में पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

Edited By: Jagran