जागरण टीम, हाथरस : बुखार और डेंगू का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार मौतें हो रही हैं। पिछले 24 घंटे में एक महिला व कक्षा नौ में पढ़ रही छात्रा की बुखार से मौत हो गई। तमाम लोगों के उपचार पड़ोसी जिलों में चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने जांच और कैंप का सिलसिला जारी रखा है मगर इसका बड़ा असर नहीं दिख रहा है।

सिकंदराराऊ कस्बे के मोहल्ला नौरंगाबाद पश्चिमी के मोहल्ला धोबी वाली गली की रजिया बेगम की एक साल पहले मोहल्ला दमदमा के जीशान सलमानी के साथ शादी की गई थी। पिछले एक सप्ताह से 24 वर्षीय रजिया बेगम को बुखार आ रहा था जिसका उपचार स्थानीय चिकित्सक के यहां चल रहा था। सोमवार की शाम को तबीयत बिगड़ने पर ससुरालीजन अलीगढ़ के एक निजी हास्पिटल में ले गए, जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। रजिया की मौत से स्वजन में हाहाकार मच गया।

वहीं, शहर के गांव सोखना निवासी चंद्रपाल की 13 वर्षीय पुत्री नेहा कक्षा नौ में पढ़ती थी। तीन दिन पूर्व छात्रा को बुखार आया तो स्वजन ने गांव के ही चिकित्सक से दवा दिलवा दी लेकिन सोमवार को छात्रा की तबीयत बिगड़ गई और उसकी मौत हो गई। स्वजन का रो-रोकर बुरा हाल है। कुरसंडा में नहीं सुधर रहे हालात

सादाबाद के गांव कुरसंडा के अलावा कई ऐसे गांव हैं। जहां बुखार और डेंगू का प्रकोप बरकरार है। तमाम मरीज आगरा के निजी अस्पतालों में उपचार करा रहे हैं। सोमवार को सीएमओ डा. चंद्रमोहन चतुर्वेदी के निर्देश पर कई गांवों में शिविर लगाकर दवाइयों का वितरण कराया गया।

Edited By: Jagran