जासं, हाथरस : कैश एंड कैरी के खेल में गैस एजेंसियां उपभोक्ताओं से लूट कर रही हैं। शहर के गैस डिस्ट्रीब्यूटर्स प्रतिदिन हजारों रुपये का गोलमाल कर रहे हैं। अधिकारियों से सेटिग कर यह खेल बखूबी चल रहा है। इसकी न तो कोई चेकिग करता है न ही कोई सवाल उठाता है। दैनिक जागरण की पड़ताल में यह खुलासा हुआ है।

ऐसे करते हैं गोलमाल

गैस की बुकिग के बाद सिलेंडर की होम डिलीवरी होनी चाहिए। वर्तमान में गैस सिलेंडर की कीमत 866 रुपये है। इसमें 27.50 रुपये कैश एंड कैरी के जुड़े होते हैं, जो ग्राहक खुद गोदाम पर सिलेंडर लेने पहुंचते हैं उन्हें कैश एंड कैरी चार्ज की छूट मिलनी चाहिए, लेकिन कई गैस डिस्ट्रीब्यूटर ऐसा नहीं कर रहे हैं। वह पूरा पैसा ग्राहकों से वसूलते हैं। कई ऐसे हैं जो केवल 20 रुपये की छूट देते हैं।

--

बैकलॉग के नाम पर खेल

ग्राहकों से बैकलॉग के जरिए पैसा वसूला जाता है। नियमानुसार गैस की बुकिग के तीसरे दिन सिलेंडर की डिलीवरी ग्राहकों को करना जरूरी होता है, लेकिन कई एजेंसी संचालक 7 से 10 दिन तक डिलीवरी नहीं भिजवाते हैं। ऐसे में बड़ी संख्या में ग्राहक गोदाम पर सिलेंडर लेने पहुंच जाते हैं। एजेंसी संचालक प्रतिदिन बुकिग के अनुसार इनवॉइस काट कर तैयार कर लेते हैं। जैसे-जैसे सप्लाई होती जाती है हॉकर को इनवाइस सौंप दी जाती हैं, लेकिन जो लोग सिलेंडर की डिलीवरी में देरी होने पर गोदाम पर पहुंचते हैं, उन्हें कटी हुई इनवॉइस के हिसाब से ही पेमेंट करना पड़ता है। कायदे में एजेंसी संचालक को ग्राहक को कैश एंड कैरी चार्ज वापस करना चाहिए।

हॉकर भी कर रहे लूट

हाथरस शहर ही नहीं देहात क्षेत्र में गैस हॉकर भी लूट करने से पीछे नहीं हट रहे हैं। सिलेंडर की कीमत वर्तमान में 866 रुपये है। इसमें 302 रुपये की सब्सिडी ग्राहक को मिलती है। गैस हॉकर इनवॉइस के इतर 20 रुपये डिलीवरी के नाम पर और वसूलते हैं। यानी कि वह 886 रुपये ग्राहकों से वसूलते हैं जो कि गलत है।

--

अधिकारी नहीं करते चेकिग

अधिकारी भी मूलत: एजेंसियों की चेकिग नहीं करते हैं, इसीलिए ग्राहकों के साथ ठगी होती है। ग्राहक भी 20 रुपये के लिए शिकायतों के झोल में नहीं फंसना चाहते। इसीलिए गैस एजेंसी संचालकों के मंसूबे बुलंद हैं।

--

इनका कहना है

तीन-चार दिन पहले इंडियन ऑयल की गैस की बुकिग कराई थी। शनिवार को गैस की डिलीवरी हुई है। हॉकर ने 875 रुपये की इनवॉइस दी। 10-20 रुपये के लिए अमूमन शिकायत नहीं सोचते।

- डॉ. वीरेंद्र कुमार, सासनी।

--

गैस गोदाम से सिलेंडर लें या फिर होम डिलीवरी। कंपनियां एक जैसा ही चार्ज वसूलती हैं। कोई भी अंतर रेट में नहीं होता। हमें यह जानकारी नहीं है कि डिलीवरी चार्ज के रुपये इसमें जुड़े होते हैं।

दीपक वाष्र्णेय हसायन

-

सिलेंडर डिलीवरी की जो इनवॉयस रहती है उससे अलग गैस हॉकर 20 रुपये डिलीवरी के नाम पर लेते हैं। हमें इसकी जानकारी नहीं है कि बिल में ही डिलीवरी चार्ज जुड़ा होता है।

राजकुमार, हाथरस

--

इनका कहना है

गोदाम से गैस सिलेंडर लेने वाले को 27.50 रुपये की छूट दी जानी चाहिए। वहीं अगर हॉकर रुपये अलग से वसूल रहे हैं यह सरासर गलत हैं। लोग इसकी शिकायत एजेंसी पर कर सकते हैं।

- पंकज सिंह, नोडल सेल्स ऑफीसर, एलपीजी।

--

ऐसी कोई शिकायत मेरे सामने नहीं आई है। एजेंसी संचालक कैश एंड कैरी के नाम पर वसूली नहीं कर सकते। मैं एजेंसियों पर औचक निरीक्षण कर इसकी पड़ताल करूंगा। जहां भी गड़बड़ी मिलेगी वहां कार्रवाई की जाएगी।

- सुरेंद्र यादव, डीएसओ। आंकड़े

जिले में कुल गैस डिस्ट्रीब्यूटर : 28

हाथरस शहर में गैस डिस्ट्रीब्यूटर : 6

आईओसी के गैस डिस्ट्रीब्यूटर - 8

बीपीसी के गैस डिस्ट्रीब्यूटर - 17

एचपी के गैस डिस्ट्रीब्यूटर - 3

कुल उपभोक्ता : 105000 लगभग

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस