जासं, हाथरस : परिवहन निगम के अफसरों के निर्देश रोडवेज के चालक व परिचालक नहीं मान रहे हैं। अलीगढ़ से हाथरस शहर के भीतर जाने के लिए यात्रियों ने कंडक्टर से कहा तो उसने बस को रास्ते से वापस कराकर अलीगढ़ के गांधी पार्क बस स्टैंड में खड़ा कर दिया।

इसे लेकर काफी देर तक गहमा गहमी रही। बाद में सवारियों के शिकायत करने पर चालक हाथरस के लिए रवाना हुआ और बस को शहर में होकर गुजारा।

शहर में तालाब चौराहे पर ओवरब्रिज बन चुका है। इसके बाद भी अलीगढ़ और आगरा से आने वाली बसें अंदर होकर नहीं गुजर रही हैं। इसको लेकर यात्री आए दिन हंगामा करते हैं। मंगलवार को अलीगढ़ डिपो और हाथरस डिपो की बस अलीगढ़ बस स्टैंड से आगरा की ओर जा रही थीं। बस स्टैंड से हाथरस के लिए कई सवारियां हाथरस डिपो की बस में यह सोचकर बैठ गईं कि यह बस तो शहर के अंदर होकर जाएगी ही। सवारियां बैठने के बाद चालक व परिचालक बस लेकर चल दिए। बस स्टैंड से जैसे ही बस कंपनी बाग गोल चक्कर से निकली थी कि परिचालक ने हाथरस शहर के अंदर ले जाने से मना कर दिया। यात्रियों ने विरोध किया तो परिचालक ने ड्राइवर से कहकर बस को फिर से बस स्टैंड के अंदर खड़ा करवा दिया। इसे लेकर काफी देर तक हंगामा होता रहा। सवारियों ने डिपो में इन्क्वायरी पर शिकायत की। मामला अधिकारियों तक पहुंचा तो एनाउंस किया गया कि अलीगढ़, बुद्धविहार व हाथरस डिपो की बसें शहर के अंदर होकर जाएंगी। इसके बाद ही बस वहां से चलीं। क्षेत्रीय प्रबंधक का कहना है कि वे तीनों डिपो के सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक को अंदर बसों को ले जाने के निर्देश पहले ही दे रखे हैं।

Edited By: Jagran