संवाद सहयोगी, हाथरस : बेसिक शिक्षा परिषद तथा माध्यमिक के अशासकीय सहायता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा आठ तक के बच्चों को दोपहर में एमडीएम योजना का लाभ दिया जाता है। प्रतिदिन सूचना दैनिक अनुश्रवण प्रणाली के तहत एमडीएम प्राधिकरण को भेजी जाती है। 40 विद्यालयों में एमडीएम व्यवस्था देखने वाले शिक्षकों ने जुलाई माह में एक भी दिन सूचना मोबाइल के जरिए प्राधिकरण को नहीं भेजी, जिस पर अब प्राधिकरण ने नाराजगी व्यक्त की है।

प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में वितरित होने वाले एमडीएम पर प्राधिकरण की नजर रहती है। प्रतिदिन कितने बच्चों ने एमडीएम खाया इसकी जानकारी लेने के लिए प्राधिकरण से कॉल आती है। एमडीएम व्यवस्था देखने वाले शिक्षकों को बच्चों की संख्या बतानी होती है, लेकिन इस महत्वपूर्ण कार्य में शिक्षकों द्वारा लापरवाही बरती जाती है। जुलाई माह में नगर क्षेत्र के 27 तथा ग्रामीण क्षेत्र के 13 विद्यालयों ने एमडीएम की सूचना एक भी दिन नहीं भेजी। अब प्राधिकरण से लापरवाही बरतने वाले शिक्षकों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए गए है। जिला समन्वयक एमडीएम अर¨वद शर्मा ने बताया कि जुलाई में एक भी दिन एमडीएम की सूचना प्राधिकरण को न भेजने वाले शिक्षकों के खिलाफ अब बीएसए हरीशचंद्र द्वारा कार्रवाई तय की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप