हरदोई : उप जिलाधिकारी श्रद्धा शांडिल्यायन ने मंगलवार को कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय समेत कई स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। बच्चों से कई सवाल पूछे जब बच्चे सही उत्तर नहीं दे सके तो कक्षा में ही किताब लेकर स्वयं पढ़ाने लगी।

उप जिलाधिकारी ने कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय बिलहरी का निरीक्षण किया। शौचालय जर्जर दशा में पाया गया। यहां तैनात रसोइया रमेश चंद्र तीन सितंबर से अनुपस्थित चल रहे हैं। वार्डन ने बताया कि रसोइया को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने अपने कार्यालय में संबद्ध कर रखा है। विद्यालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे विद्यार्थियों से एसडीएम ने कई सवाल पूछे। जब बच्चे सही उत्तर नहीं दे सके तो एसडीएम कक्षा में ही किताब लेकर बच्चों को खुद पढ़ाने लगी। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय ककरघटा में दिसंबर 2017 से मिड्डे मील रजिस्टर में कोई एंट्री नहीं पाई गई। पूर्व माध्यमिक विद्यालय में भी मिड्डे मील रजिस्टर में जुलाई और अगस्त का अवशेष अंकित नहीं पाया गया। इस पर एसडीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए रजिस्टर में सभी एंट्री दर्ज करने के निर्देश दिए। कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय शाहाबाद के निरीक्षण में वार्डन चित्रा ¨सह अनुपस्थित मिली। एसडीएम ने पूरी रिपोर्ट बनाकर जिलाधिकारी को भेज दी है।

Posted By: Jagran