हरदोई: शाहाबाद क्षेत्र में मंगलवार को गर्रा नदी में डूबे युवक का बुधवार को शव बरामद हो गया। वहीं देहात कोतवाली क्षेत्र में मंगलवार को रिश्तेदारी में आए युवक का संदिग्ध हालत में नाले में पड़ा शव मिला। हरपालपुर क्षेत्र की गंभीरी नदी में युवक का शव मिला। जांच में पता चला कि उसने फांसी लगाकर जान दी थी, तो स्वजन ने उसका जल प्रवाह कर दिया था।

शाहाबाद के उधरनपुर निवासी संजीव पाल मंगलवार को भैंस लेकर गए थे। वापस लौटते समय वह भैंस की पूंछ पकड़कर नदी पार करने लगे और पूंछ हाथ से छूट जाने पर वह डूब गए। काफी तलाश के बाद बुधवार को उमरिया कैथानी के पास नदी में एक पेड़ से उनका शव फंसा मिला। कोतवाली देहात क्षेत्र के खेतुई के मजरा खेरौली के पास एक नाले में बुधवार को युवक का शव मिला। बाद में उसकी पहचान बेहटागोकुल क्षेत्र के रामनगरिया निवासी वीरेंद्र के रूप में हुई। मृतक के पुत्र साजन ने संदेह जताया है। उसका कहना है कि ऐसे कैसे नाले में गिरने से मौत हो सकती है। तीसरी घटना में हरपालपुर क्षेत्र में पलिया गांव के पास गंभीरी नदी में एक युवक का शव देखा गया। मृतक की पहचान क्षेत्र के जुआपुरवा निवासी विपनेश के रूप में हुई। उसके पिता रनवीर सिंह ने बताया कि विपनेश मानसिक रूप से परेशान रहता था और उसी के चलते सोमवार को उसने फांसी लगाकर जान दे दी थी, जिसके बाद शव को अंतिम संस्कार के लिए नदी में प्रवाहित कर दिया गया था। सभी शवों को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

Edited By: Jagran