हरदोई : फांसी लगाकर जान देने की घटनाएं बढ़ती ही जा रही हैं। रविवार को एक नवविवाहिता समेत तीन लोगों के शव फंदे पर लटकते मिले। नवविवाहिता के मायके पक्ष के लोगों ने ससुरालीजन पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है।

मझिला के ग्राम हुइला के रिषीराम की छह माह पूर्व लखीमपुर के पसिगवां के करमोलिया की कल्पना उर्फ छोटी के साथ हुई थी। पति ने बताया कि रविवार शाम को वह खेत पर गया था, जब वापस आया तो कल्पना का शव फंदे पर लटकता मिला। मृतका के पिता भुवनेश्वर ने बताया कि चार बेटियां हैं। उनके पास तीन बीघा भूमि है। रिषीराम भूमि को उसके नाम करने की मांग कर रहा था। मना करने पर आए दिन पुत्री को प्रताड़ित किया करते थे। पिता ने पति रिषीराम, ससुर और जेठ पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है।

शाहाबाद क्षेत्र के ग्राम भूड़ा का अवनीश इंटर का छात्र था। स्वजन ने बताया कि रविवार शाम को अवनीश घर से खेत जाने की बात कहकर निकला था, जिसके बाद वह वापस नहीं आया। स्वजन ने तलाश की तो उसका शव गन्ने के खेत में विद्युत पोल से लटकता मिला।

बिलग्राम क्षेत्र के ग्राम रोशनपुर के सद्दीक मानसिक मंदित थे। स्वजन ने बताया कि सद्दीक झोपड़ी में रहते थे। रविवार शाम को सद्दीक का शव झोपड़ी में फंदे पर लटकता मिला। कासिमपुर क्षेत्र के सोनानीखेड़ा मजरा कहचारी की परवीन बानो का शव कमरें में फंदे पर लटकता मिला। पति इकबाल ने बताया कि सोमवार को वह लखनऊ दूध बेचने के लिए गया था। इसके बाद परवीन ने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। परवीन सात माह की गर्भवती थी, स्वजन घटना का कारण नहीं बता सके।

Edited By: Jagran