शाहाबाद : मंगलवार को तहसीलों में होने वाले संपूर्ण समाधान दिवस से लोगों को बड़ी उम्मीदें रहती हैं। समस्या एवं शिकायत के त्वरित निस्तारण के उद्देश्य से तहसील में होने वाले संपूर्ण समाधान दिवस में पीड़ित उम्मीदों के साथ शिकायती पत्र लेकर अधिकारियों के पास पहुंचे। अधिकारियों ने प्रकरण की जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन देकर पीड़ितों को चलता कर दिया। संपूर्ण समाधान दिवस में विभिन्न विभागों की कुल 166 शिकायतों को पंजीकृत किया गया, जिसमें से मौके पर 35 का निस्तारण हो सका।

विकास खंड सभागार में संपूर्ण समाधान दिवस की अध्यक्षता डीएम पुलकित खरे ने की। ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में ग्रामीण शिकायतों एवं समस्या के निराकरण की उम्मीद के साथ पहुंचे थे। पीड़ितों को डीएम व अन्य अधिकारियों ने भी सुना, लेकिन मौके पर निस्तारण न के बराबर ही हो पाया। पीड़ितों के शिकायती पत्रों पर जांच कर कार्रवाई के निर्देश के साथ संबंधित अधिकारियों को सौंपे गए। हालांकि डीएम ने अधिकारियों से कहा कि वह शिकायतों की मौके पर जाकर जांच करें और समय से निस्तारित कराएं। सीडीओ निधि गुप्ता वत्स, एडीएम संजय कुमार सिंह समेत अधिकारी मौजूद रहे।

पंचायत सचिव ने काटा हंगामा : संपूर्ण समाधान दिवस के समापन पर अधिकारियों के ब्लाक से जाते ही ग्राम पंचायत अधिकारी कमलेश कुशवाहा ने जमकर हंगामा काटा। पंचायत कर्मी नशे में धुत था और जमकर शोर-शराबा किया और अधिकारियों के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग किया। अधिकारियों के न होने से किसी ने भी उसे शांत कराने या चिकित्सीय परीक्षण कराने की जहमत नहीं उठाई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस