हरियावां (हरदोई) : सीएचसी पर गुरुवार रात प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। स्वजन ने स्टाफ नर्स पर पांच हजार रुपये लेने का आरोप लगाया है। सीएचसी प्रभारी ने रुपये लेने के आरोप को नकारा है।

ग्राम पियरनपुरवा के संतोष की पत्नी निर्मला गर्भवती थीं। संतोष ने बताया कि गुरुवार शाम को निर्मला को प्रसव पीड़ा हुई और हरियावां सीएचसी पर भर्ती कराया, जहां पर स्टाफ नर्स ने पहले ही पांच हजार रुपये ले लिए। इसके बाद देर रात प्रसव के दौरान बच्चे की मौत हो गई। कुछ देर बाद पत्नी की हालत बिगड़ने लगी। रेफर के लिए भी पांच सौ रुपये मांगे गए, जब रुपये दे दिए तब रेफर बनाया। वह लोग निर्मला को लेकर महिला अस्पताल जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। घटना के बाद स्वजन में चीख पुकार मच गई। स्वजन ने शव का अंतिम संस्कार कर दिया। सीएचसी प्रभारी अखिलेश बाजपेई ने बताया कि रुपये लेने का आरोप गलत है।

बेटे और बहू समेत तीन पर चोरी की रिपोर्ट दर्ज- शाहाबाद : कस्बे के मुहल्ला खत्ता जमाल के बसंत लाल इंटर कॉलेज के सेवानिवृत्त शिक्षक सदा शिवराय अग्निहोत्री ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि गुरुवार को वह फर्रुखाबाद में डायलिसिस कराने गए थे। बड़े बेटे राजीव अग्निहोत्री, उसकी पत्नी हिमानी अग्निहोत्री और भैरवी अग्निहोत्री ने अलमारी से जेवर और कीमती सामान निकाल लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि तीनों ने बुधवार को उनके साथ मारपीट भी की। उनके बैंक अकाउंट को भी होल्ड करा दिया। सेवानिवृत्त शिक्षक ने तीनों से जान का खतरा भी बताया है। कोतवाल सुरेश कुमार मिश्रा ने बताया कि एफआइआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

Edited By: Jagran