हरदोई : कोर्ट के आदेश पर बेहटा गोकुल पुलिस ने पंचायत चुनाव के तत्कालीन आरओ (रिटर्निंग आफीसर) पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता सहित पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर बेहटा गोकुल थाना पुलिस ने मंझिला क्षेत्र के चेना के मुनेश्वर पुत्र चित्तर के प्रार्थना पत्र पर विकास खंड टोडरपुर के तत्कालीन लिपिक अनूप दीक्षित, तत्कालीन एडीओ आशीष बाजपेयी, तत्कालीन खंड विकास अधिकारी ऋषी पाल सिंह, तत्कालीन लिपिक बृजेश मिश्रा और तत्कालीन आरओ पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता हरदयाल अहिरवार के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कर ली है। पीड़ित की ओर से दर्ज की गई रिपोर्ट में कहा गया है कि मुनेश्वर ग्राम पंचायत का चुनाव लड़ने के लिए छह जून 2021 को टोडरपुर में नामांकन करने आया था। वहां पर जमानत रसीद दोपहर एक बजे तक नहीं दी गई और नामांकन कराने के एवज में तत्कालीन दो लिपिकों व तत्कालीन सहायक विकास अधिकारी ने 50 हजार रुपये मांगे। कहा गया है कि रुपये देने से मना करने पर आरोपितों ने गाली-गलौज और अभद्रता की। जमानत रसीद न मिल पाने के कारण वह साथ आए गांव के लोगों के माध्यम से नामांकन नहीं करा सका, और चुनाव लड़ने से वंचित रह गया। तत्कालीन आरओ ने बताया कि उनके पास जो भी पूरी औपचारिकता के साथ नामांकन आए थे, उन्हें प्राप्त किया गया था। मुनेश्वर का नामांकन पत्र ही उनके पास तक नहीं आया था।

तमंचा समेत गिरफ्तार

माधौगंज : थाना प्रभारी सुव्रत तिवारी ने बताया कि मुहल्ला गोखलेनगर के शीलू गुप्ता उर्फ छोटू को तमंचा व दो कारतूस के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

महिला से छेड़छाड़

मल्लावां : एक गांव की महिला ने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि शुक्रवार सुबह घर के बाहर बने शौचालय में शौच करने जा रही थी। उसी दौरान गांव का वीरू शौचालय में घुस आया और छेड़छाड़ करने लगा। शोर मचाने पर आरोपित मौके से फरार हो गया। पुलिस ने आरोपित पर एफआइआर दर्ज कर ली है।

Edited By: Jagran