बघौली (हरदोई) : मुर्गी फार्म पर चूजों को मारने के बाद संचालक की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। रविवार को संचालक का शव फार्म से दूर धान के खेत में मिला।

गदनपुर के मजरा कुईयां के अखिलेश का गांव के बाहर मुर्गी फार्म है। स्वजन ने बताया कि शनिवार शाम को अखिलेश घर से निकल गए, उनके साथ कमोलिया के शिवकुमार भी थे। पत्नी मोनिका ने बताया कि शनिवार की रात आठ बजे तक इंतजार करती रही, लेकिन न आने पर वह घर चली आई। रविवार सुबह वह फार्म पर चाय लेकर गई तो, चूजे मरे मिले और पति गायब थे। फार्म में खून भी पड़ा था। अनहोनी की आशंका पर पत्नी ने तलाश की तो, फार्म से दूर धान के खेत अखिलेश का शव रक्तरंजित मिला। गर्दन धारदार हथियार से कटी थी।

पुलिस अधिकारी फारेंसिक टीम के साथ पहुंचे और साक्ष्य जुटाए। एएसपी पश्चिमी अनिल कुमार ने बताया कि पत्नी ने शिवकुमार पर शराब के नशे में विवाद पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस सभी बिदु पर जांच कर रही है। जान बचाने को भागा था अखिलेश : फार्म पर जहां अखिलेश रुकता था, वहां पर खून तो पड़ा था, जबकि शव वहां से करीब एक हजार मीटर दूर खेत में मिला। माना जा रहा है कि अखिलेश पर फार्म में ही हमला किया गया, जब वह जान बचाकर भागा तो खेत में गिराकर उसकी हत्या कर दी गई। एएसपी ने बताया कि घटना के राजफाश के लिए तीन टीमें लगाई गई हैं। फारेंसिक टीम ने मुर्गी फार्म और खेत में पड़े खून व मिट्टी के सैंपल लिए।

Edited By: Jagran