हरदोई : डीएम पुलकित खरे ने कहा कि महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री का जीवनवृत्त आदर्शों का खजाना है। आचरण से सादगी, सत्य, अहिसा, स्वच्छता, स्वदेशी एवं सेवा का संदेश दिया है। दोनों महापुरुषों ने लोगों को सद्आचरण के प्रति प्रेरित करने के साथ ही जीवन में अपनाया भी था। पूर्व प्रधानमंत्री शास्त्रीजी ने अमेरिका के आगे नतमस्तक होने के बजाय आत्मबल से एक दिन का भोजन त्याग कर लोगों से भी अपील की थी। अन्न उत्पादन के लिए प्रधानमंत्री निवास में खुद हल चलाया और आत्मनिर्भरता का संदेश दिया। डीएम ने कलेक्ट्रेट में ध्वजारोहरण के साथ ही गांधीजी एवं शास्त्रीजी के चित्र एवं स्वच्छता वाटिका में गांधीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की।

रामधुन एवं गांधीजी के प्रिय भजन की प्रस्तुति के बाद कहा कि गांधीजी के संदेश हमेशा महत्वपूर्ण रहे हैं। देश में अनाज का संकट होने पर पूर्व प्रधानमंत्री शास्त्रीजी ने जय जवान-जय किसान का नारा दिया था। जो आज भी मायने रखता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अब किसानों की आमदनी दोगुनी करने का संकल्प लिया है। कहा कि अधिकारी-कर्मचारी को कार्य समय एवं ईमानदारी से निपटाने की आदत डालनी चाहिए। एडीएम संजय कुमार सिंह ने कहा कि गांधीजी, शास्त्रीजी के आदर्शों को जीवन में अपनाना ही सच्ची श्रद्धांजलि है। डीआईओ एनआइसी अमित मिश्र, ईडीएम देवेश सिंह, नाजिर फैजी अहमद, सुनील कुमार शर्मा, वेदभूषण आदि ने पुष्पांजलि अर्पित की।

इसके बाद डीएम अधिकारियों के साथ गांधी भवन पहुंचे। गांधीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर गांधी भवन एवं पुस्तकालय का फीता काटकर शुभारंभ किया। सर्वधर्म सभा में प्रतिभाग किया और चरखा पर सूत काता। आवास विकास कालोनी में लाल बहादुर शास्त्री पार्क के सुंदरीकरण को जनता को समर्पित किया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप