हरदोई : पंचायतीराज विभाग के उप निदेशक एके सिंह ने सहायक विकास अधिकारियों से कहा कि वह विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों की लक्ष्य पूर्ति के लिए संवेदनशीलता से काम करें। डीएससी (डिजिटल सिग्नेचर सर्टीफिकेट) के एक्टीवेशन में कम प्रगति पर छह विकास खंडों के एडीओ को प्रतिकूल प्रविष्टि एवं 13 ग्राम पंचायतों की प्रिया साफ्ट पर फीडिग पूरी न कराने संबंधित ग्राम पंचायतों के पंचायत सचिवों के विरुद्ध एफआइआर के निर्देश दिए।

उप निदेशक ने सोमवार को विकास भवन स्थित डीपीआरओ कार्यालय कक्ष में एडीओ पंचायत की समीक्षा बैठक में ब्लाकवार योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी ली। कम प्रगति पर नाराजगी जाहिर की। अहिरोरी, बावन, भरखनी, शाहाबाद, हरपालपुर एवं पिहानी में डीएससी एक्टीवेशन की कम प्रगति मिली। एडीओ को प्रतिकूल प्रविष्टि दी जाए। वेतन रोकने के निर्देश दिए। डीपीआरओ से कहा कि 31 अक्टूबर तक शत प्रतिशत एक्टीवेशन न कराने वाले एडीओ के विरुद्ध कार्रवाई के लिए शासन को लिखा जाए। सभी ग्राम पंचायतों में डीएससी का शत प्रतिशत प्रयोग कराया जाना है। ताकि गांवों में विकास एवं निर्माण कार्य गति पकड़ सकें।

वहीं प्रिया साफ्ट पर फीडिग की समीक्षा में पाया कि वर्ष 2018-19 की फीडिग में 13 ग्राम पंचायतों को डिफाल्टर पाया। विकास खंड अहिरोरी 6, भरखनी 6 और हरपालपुर की एक ग्राम पंचायतों की फीडिग नहीं हो पाई है। इस पर उन्होंने संबंधित ग्राम पंचायत के पंचायत सचिवों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराए जाने के निर्देश दिए। डीपीआरओ गिरीश चंद्र, डीपीएम उमेश कुमार, डीपीसी हिमांशु मिश्रा समेत एडीओ शामिल रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप