हरदोई: जन शिकायत निस्तारण में पुलिसकर्मी मनमानी नहीं कर सकेंगे। उन्हें शिकायत कर्ता को संतुष्ट करना होगा। अगर किसी की नाजायज शिकायत है, तो उसकी विधिवत तथ्यपूर्ण रिपोर्ट देनी होगी। पुलिस अधीक्षक की तरफ से शिकायतों के निस्तारण का फीडबैक लिया जाएगा। जिसके लिए कार्यालय में फोन लगाए जा रहे हैं। गुरुवार को एसपी ने व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर दिशा निर्देश दिए।

शिकायतों के निस्तारण पर जोर है, लेकिन बहुत से लोग मनमानी करते हैं। समय से शिकायतों का निस्तारण नहीं करते, अगर करते भी हैं तो शिकायत कर्ता संतुष्ट नहीं होता पर अब ऐसा नहीं हो सकेगा। एसपी अमित कुमार ने शिकायतों को उनकी श्रेणी के अनुसार तीन, सात और 15 दिन के अंदर निस्तारण का निर्देश दिया है। इसका हर हाल में अनुपालन करना होगा। उन्होंने बताया कि निस्तारण का फीडबैक लेने के लिए कार्यालय में फोन लगाए जा रहे हैं। जहां से शिकायत कर्ता को फोन कर निस्तारण की जानकारी ली जाएगी। अगर वह असंतुष्ट है तो उसका पूरा कारण पूछा जाएगा और फिर से शिकायत की जांच कराई जाएगी। तीन बार उससे फीडबैक लिया जाएगा। अगर तीनों बार कोई शिकायत कर्ता असंतुष्ट है तो उसकी क्षेत्राधिकारी जांच करेंगे। अगर पुलिस कर्मी दोषी है तो उसके विरुद्ध कार्रवाई होगी। वहीं अगर कोई शिकायतकर्ता गलत जानकारी दे रहा उसे भी गंभीरता से लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस