हरदोई : बोर्ड परीक्षा में नकल माफिया पर रासुका लगेगी। हरदोई के मल्लावां में विधायक आशीष ¨सह के आवास पर शुक्रवार को आए डिप्टी सीएम, माध्यमिक शिक्षा मंत्री डा. दिनेश शर्मा ने यह बात कही है। उन्होंने साफ कहा कि परीक्षा के पहले सीसीटीवी कैमरों की जांच कर ली जाए।

मल्लावां के देवमनपुर विधायक आशीष ¨सह के घर पर डिप्टी सीएम श्री शर्मा ने डीएम पुलकित खरे, एसपी आलोक प्रियदर्शी व डीआइओएस वीके दुबे को निर्देशित करते हुए कहा कि इस बार होने वाली बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में किसी कीमत पर नकल नहीं होने दी जाएगी। नकल रोकने के लिए अभी से पूरी तैयारी करने के निर्देश देते हुए कहा कि परीक्षा से पहले सीसीटीवी कैमरे की जांच कर ली जाए, ताकि किसी भी सेंटर पर सीसीटीवी कैमरे की समस्या न हो। इसके बावजूद भी यदि कोई जिले में नकल माफिया पकड़ा जाता है तो उसके विरुद्ध रासुका की कार्रवाई की जाएगी। कहा कि नकल पर लगाम लगते देख इस बार प्रदेश में 58 लाख परीक्षार्थी बोर्ड परीक्षा में पंजीकृत हुए हैं, जबकि पिछली बार 67 लाख परीक्षार्थी परीक्षा दिए थे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जो संदिग्ध सेंटर है उन पर कड़ी नजर रखी जाए। बताया कि यूपी में 10 हजार करोड़ रुपये का नकल का कारोबार था। बीते वर्ष की परीक्षाओं में नकेल कसी गई। जिसके चलते नकल के कारोबारियों का पूर्णतया नुकसान हुआ है, जो लोग अभी नकल के लिए सक्रिय हैं। उनकी सूची पूरे प्रदेश से तैयार करा ली गई है। समय पर सभी जिलाधिकारियों को संबंधित सूची कार्रवाई के लिए सौंपी जाएगी। हरदोई जनपद नकल के लिए विख्यात रहा है। इसके लिए इस जिले पर कड़ी नजर खुद डिप्टी सीएम की होगी। पहले इस जिले में कई प्रदेश के छात्र नकल के लिए परीक्षा देने आते थे । उन्हीं प्रदेशों के छात्रों के माध्यम से यह सूची तैयार कराई गई है। यदि जिले का कोई अधिकारी परीक्षा में नकल से संबंध रखता है तो उनके भी बक्शा नहीं जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस