संडीला (हरदोई) : क्षेत्र के एक गांव में शनिवार रात पत्नी और दो बच्चों पर बांके से हमला करने के बाद युवक ने खुद को बांका मार लिया। रविवार अलसुबह एंबुलेंस से घायलों को संडीला सीएचसी ले जाया गया।

ग्राम गोसा मजरा गदौरा के कन्हैयालाल खेतीबाड़ी करते हैं। परिवारवालों ने बताया कि शनिवार रात किसी बात को लेकर कन्हैयालाल ने तीन वर्षीय पुत्र कार्तिक और छह वर्षीय पुत्री सोनाक्षी पर बांके से हमला किया। पत्नी विमला पकड़ने आई तो उसे भी बांका मारकर घायल कर दिया। तीनों को घायल करने के बाद कन्हैयालाल ने खुद को भी बांका मारकर घायल कर लिया। परिवारवालों ने गांव के होमगार्ड रामचंद्र को जानकारी दी, जिसके बाद रामचंद्र ने डायल 112 और कोतवाली में कई फोन किए, लेकिन किसी ने फोन नहीं उठाया। रविवार अलसुबह 108 को सूचना दी और एंबुलेंस गांव पहुंची, जहां से सभी को संडीला सीएचसी लेकर पहुंचे और पुलिस भी पहुंच गई। संडीला सीएचसी से सभी जिला अस्पताल भेज दिया गया। जिला अस्पताल में एक घंटे तक चारों का प्राथमिक उपचार किया गया और इसके बाद लखनऊ रेफर कर दिया गया। बच्चों की बलि दो ठीक हो जाएगा स्वास्थ्य

बड़े भाई दुलारे ने बताया कि कन्हैयालाल को मिर्गी का दौरा पड़ता है। शनिवार को गांव में एक बाबा आया था, उसने कन्हैयालाल से कहा कि बच्चों की बलि दो तो तुम्हारा स्वास्थ्य ठीक हो जाएगा। घर पर पत्नी से कोई विवाद नहीं हुआ था। बच्चों को बचाने पर ही कन्हैयालाल ने पत्नी पर हमला किया था। अगर रात में पहुंच जाती पुलिस तो समय से हो जाता उपचार : भाई दुलारे ने जिला अस्पताल में बताया कि रात लगभग 11 बजे की घटना है, लेकिन पुलिस के न पहुंचने के कारण रातभर सभी घायल घर पर ही पड़े रहे। अगर समय से पुलिस मौके पर पहुंच जाती तो सभी को समय से उपचार मिल जाता।

Edited By: Jagran