हरदोई : जेल सहित पुलिस अभिरक्षा से फरार हुए अपराधियों की लंबे अरसे बाद पुलिस को याद आई है। उच्चाधिकारियों की ओर से इनकी बाबत ब्योरा मांगे जाने के बाद पुलिस इनकी तलाश में जुट गई है।

बिलग्राम कोतवाली क्षेत्र के दिवाली निवासी बंदी नादिर पांच जनवरी 1999 को जेल परिसर से भाग गया था। पाली थाना क्षेत्र के भज्जापुरवा निवासी 17 वर्षीय हत्यारोपी रामसागर बाल 23 जनवरी 2003 को बाल सुधार गृह से फरार हो गया। उसके फरार होने को ही 17 वर्ष बीत गए हैं, लेकिन उस तक पुलिस नहीं पहुंच सकी है। अन्य बंदियों में चार सितंबर 2013 को न्यायालय परिसर से फरार रामपुर जिले के थाना अजीमनगर, 680 नगरिया आदिल निवासी इसराइल, 09 अगस्त 2017 को लखनऊ न्यायालय में पेशी के दौरान फरार बिहार के सिवान जिले के मठीपुर बढ़हरिया निवासी सुनील शर्मा का नाम है। इसराइल पर जहां पशु क्रूरता अधिनियम समेत अन्य मामले दर्ज थे, वहीं सुनील पर हत्या, लूट डकैती के मामले थे। पुलिस अभिरक्षा से फरार हुए इन चारों की गिरफ्तारी में पुलिस अब तक नाकाम है। कई थानों की पुलिस कर रही तलाश

पुलिस अभिरक्षा से फरार हुए शातिरों में नादिर, रामसागर और इसराइल की फरारी के कोतवाली शहर में मामला दर्ज है। वहीं, सुनील शर्मा लखनऊ से फरार हुआ था। उसके विरुद्ध लखनऊ के वजीरगंज कोतवाली में फरारी का मामला दर्ज है।

जेल से एसपी को भेजा गया पत्र

पुलिस अभिरक्षा से फरार हुए चारों बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए जेल प्रशासन ने एक बार फिर पुलिस को पत्र लिखा है। जेल से भेजे गए पत्र के आधार पर पुलिस अधीक्षक अमित कुमार ने इनकी गिरफ्तारी का आदेश दिया है। एसपी ने बताया कि चारों की तलाश कराई जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस